भगवानसर गांव की बेटी की उपलब्धि:ऑनलाइन और सेेल्फ प्रेक्टिस की, श्रीगंगानगर की बेटी ने किक बॉक्सिंग प्रति. में महाराष्ट्र को हरा जीता सिल्वर

श्रीगंगानगर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 26 से 29 अगस्त को गोवा में आयोजित हुई थी वॉको इंडिया किक प्रति.

गोवा में 26 से 29 अगस्त को आयोजित वॉको इंडिया किक बॉक्सिंग सीनियर नेशनल चैंपियनशिप प्रतियोगिता में राजस्थान ने 1 गोल्ड, 2 सिल्वर और 17 ब्राँज पदक जीते हैं। प्रतियोगिता में भारत के लगभग सभी राज्यों से 2000 खिलाड़ियों ने भाग लिया।

खास बात यह है कि इस प्रतियोगिता में जिले के भगवानसर गांव की बेटी गुरप्रीत कौर ने सिल्वर मेडल जीतकर श्रीगंगानगर का नाम राेशन किया। उल्लेखनीय है कि नेशनल प्रतियोगिता के लिए श्रीगंगानगर से 5 खिलाड़ियों का चयन हुआ था।

भाई ही मेरी प्रेरणा, इंडिया के लिए गोल्ड जीतना लक्ष्य

बड़ा भाई जरनैलसिंह आर्मी में है और इस साल खेल कोटे से आउट ऑफ टर्न पॉलिसी के तहत उनका चयन पुलिस विभाग में एसआई के पद पर हुआ है। यह नियुक्ति उनको ताइक्वांडो में भारत के लिए गोल्ड जीतने पर मिली थी।

मेरी प्रेरणा मेरा भाई ही है। भाई को ताइक्वांडो खेलते देखा तो मैंने भी 3 साल पहले ताइक्वांडो खेलना शुरू कर दिया। पहली ही इंटर कॉलेज प्रतियोगिता, जो हनुमानगढ़ में आयोजित हुई थी, उसमें गोल्ड जीता। कोच दिनेश जगरवाल ने मुझे ताइक्वांडो की बारीकियां सिखाईं।

उसके बाद मैंने ताइक्वांडो के साथ किक बॉक्सिंग का भी अभ्यास शुरू किया। गांव से हर रोज श्रीगंगानगर नहीं आ सकती थी, इसलिए कोरोनाकाल में मैंने सोशल मीडिया पर वीडियो देखकर व कोच कुणाल शर्मा की मदद से किक बॉक्सिंग की ऑनलाइन कोचिंग की।

घर पर ही 4-4 घंटे किक बॉक्सिंग की प्रेक्टिस करती। पिछले दिनों जयपुर में आयोजित किक बॉक्सिंग नेशनल प्रतियाेगिता के लिए ट्रॉयल हुए, जिसमें पांच खिलाड़ियों का चयन हुआ। मैंने गोवा में एक के बाद एक चार फाइट जीती।

इसमें महाराष्ट्र को हराकर सिल्वर पदक जीता। मैं श्रीगंगानगर में खालसा कॉलेज की स्टूडेंट्स हूं। मेरा सपना है- भारत के लिए गोल्ड जीतना। उसके लिए मैं अभी से मेहनत कर रही हूं। जैसा कि गुरप्रीतकौर ने बताया

खबरें और भी हैं...