पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

तूफान एक्सप्रेस का विकल्प होगी:हावड़ा-प्रयागराज के बीच चलने वाली विभूति एक्सप्रेस को श्रीगंगानगर लाने की तैयारी

श्रीगंगानगर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सांसद निहालचंद ने की रेलवे मंत्रालय से चर्चा, संचालन से श्रीगंगानगर सीधा वाराणसी से जुड़ेगा

करीब 9 दशक पुरानी श्रीगंगानगर-हावड़ा उद्यान आभा तूफान एक्सप्रेस ट्रेन के भविष्य में स्थायी रूप से बंद होने की सूरत में इसकी जगह हावड़ा से प्रयागराज के मध्य संचालित होने वाली सुपरफास्ट ट्रेन विभूति एक्सप्रेस ले सकती है। इस संबंध में तैयार किए गए प्रस्ताव पर पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद निहालचंद व जैडआरयूसीसी के पूर्व सदस्य भीम शर्मा ने रेलवे बाेर्ड के अधिकारियाें से चर्चा की है। भीम शर्मा ने बताया कि

प्रस्ताव के अनुसार अगर रेल प्रशासन उद्यान आभा एक्सप्रेस गाड़ी संख्या 13007/13008 को सुपरफास्ट का दर्जा देने में किसी प्रकार की संचालन संबंधी परेशानी है तो इस ट्रेन के विकल्प के रूप में हावड़ा से प्रयागराज के मध्य प्रतिदिन संचालित होने वाली गाड़ी संख्या 12333/12334 हावड़ा जंक्शन-प्रयागराज रामबाग विभूति एक्सप्रेस सुपरफास्ट का श्रीगंगानगर तक विस्तार सबसे बेहतर विकल्प हो सकता हैं। शर्मा के

अनुसार विभूति एक्सप्रेस सुपरफास्ट ट्रेन प्रतिदिन हावड़ा जंक्शन से रात्रि 8 बजे प्रस्थान कर अगले दिन दोपहर 12 बजे प्रयागराज रामबाग पहुंचने के बाद उसी दिन दोपहर बाद 3.40 बजे प्रयागराज से रवाना होकर अगले दिन सुबह 7:40 बजे हावड़ा जंक्शन पहुंचती है। इस ट्रेन को 2 अतिरिक्त रैक लगाकर प्रयागराज के बाद सीमित ठहराव के साथ उद्यान आभा वाले रूट से श्रीगंगानगर तक विस्तारित किया जा सकता हैं। इससे

उद्यान आभा के विकल्प की तलाश खत्म हो जाती है। ईस्टर्न रेलवे के सीपीटीएम केेएन चंद्रा ने विगत 19 मई को ईस्टर्न रेेलवे की 10 मेल/एक्ससप्रेस व 7 अन्य पैसेंजर ट्रेनों को स्थायी रूप से बंद करने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेेेज दिया था। इनमें उद्यान आभा तूफान भी शामिल है। ईस्टर्न रेलवे के अनुसार यह गाड़ी हावड़ा से श्रीगंगानगर के मध्य 112 ठहराव करती है। इससे नई दिल्ली हावड़ा रेल मार्ग पर 130 किमी की रफ्तार से

लंबी दूरी की ट्रेनों के संचालन की योजना पर असर पड़ता हैं। भीम शर्मा के अनुसार विभूति एक्सप्रेस सुपरफास्ट के श्रीगंगानगर तक विस्तार का एक अन्य लाभ यह भी हो जाएगा कि इस इलाके को वाराणसी के लिए सीधी रेल सेवा मिल जाएगी। वाराणसी की सीधी ट्रेन की मांग भी की जा रही हैं। विभूति एक्सप्रेस प्रयागराज से वाया वाराणसी होकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन (पुराना नाम मुगलसराय जंक्शन) जाती है।

ईस्टर्न रेलवे की हैं दोनों गाड़ियां, यहां तक लाने के लिए दो रैक चाहिए
उद्यान आभा तूफान एक्सप्रेस व विभूति एक्सप्रेस दोनों ही ट्रेन ईस्टर्न रेलवे के अधिकार क्षेत्र की हैं। उद्यान आभा को बंद करने से ईस्टर्न रेलवे को 5 रैक की बचत होगी। वहीं, विभूति एक्सप्रेस के श्रीगंगानगर तक विस्तार के लिए 2 रैक देने होंगे। इसके बावजूद ईस्टर्न रेलवे को 3 रैक की बचत होगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें