पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हालात बद्तर:एसटीपी का मुद्दा उठा रहे; सीवर लाइन तो डली नहीं, जहां कनेक्शन वहां घरों में घुस रहा पानी

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रथम फेज में 5586 प्राेपर्टी कनेक्शन का लक्ष्य, हुए महज 1700, लाभ किसी काे नहीं मिला
Advertisement
Advertisement

शुगर मिल एसटीपी शुरू नहीं हाेने के मुद्दे काे लेकर नगरपरिषद सभापति करूणा चांडक व कांग्रेस नेता की ओर से एसटीपी पर जाकर प्रेस वार्ता करने के बाद लगातार एसटीपी शुरू किए जाने की मांग हाेने लगी है। वहीं, जिम्मेदार महकमाें ने अपने-अपने बचाव के लिए रास्ते निकाल लिए हैं। नगरपरिषद, यूआईटी, आरयूआईडीपी, यूईएम, एलएंडटी, एसएन एन्वायराे आने वाले कुछ ही समय में विकास के सपने दिखा रहे हैं।

भास्कर ने तह तक जाकर पड़ताल की ताे सामने आया कि एसटीपी शुरू नहीं हाेने का हल्ला महज जनता की सहानुभूति बटाेरने के लिए मचाया गया। क्याेंकि यदि शुगर मिल एसटीपी शुरू हाे जाता है ताे भी लाेगाें काे लाभ नहीं मिलेेगा। हैरानी की बात यह है कि यूईएम फर्म ने नेहरा नगर सहित पुराना वार्ड 33, 34, 35, 36, 37 व 38 में सीवरेज लाइन वर्ष 2012-13 में डाली।

इसके बाद यहां सीवर कनेक्शन का काम शुरू हुआ। अब भी कई वार्ड ऐसे हैं जहां सीवर लाइन नहीं डली। इंस्पेंक्शन चैंबर डाले बिना ही लेंटरल पाइपें डाल दीं। मैन हाॅल से घराें काे जाेड़ने के लिए बनाए जाने वाले इंस्पेक्शन चैंबर भी नहीं डाले। ऐसे में बेहतर सीवरेज की कल्पना करना भी बेमानी हाेगा।

लाेगों ने विराेध किया, क्योंकि कनेक्शन तो हुए, लेकिन घरों से ज्वाइंट नहीं किया

नगरपरिषद की ओर से प्रथम फेज यानी पुराना वार्ड 33, 34, 35, 36, 37, 38 व नेहरा नगर में सीवरेज प्राेपर्टी कनेक्शन करने के लिए टेंडर निकाले गए। फर्म काे 5586 सीवरेज प्राेपर्टी कनेक्शन का लक्ष्य दिया गया। बड़ी बात यह रही है कि फर्म ने 1700 कनेक्शन करने के बाद फर्म ने हाथ खड़े कर दिए। जहां कनेक्शन हुए वहां लाेग नगरपरिषद का विराेध करने लगे। कारण था कि कनेक्शन ताे कर दिए, लेकिन घराें से ज्वाइंट नहीं किया गया।

करें भी कहां से...यानी ना ताे ठीक से सीवर लाइन डली हुई है और न ही पाइप का ठीक से फ्लाे टेस्ट हुआ है। कांग्रेस नेता अशाेक चांडक ने भी सवाल किया है कि शुगर मिल एसटीपी में ब्लाॅक एरिया सहित आसपास के वार्डाें का सीवर डाला जाना है, लेकिन आज तक इलाके में सीवर का काम ही नहीं शुरू हुआ।

वहीं, नगरपरिषद आयुक्त प्रियंका बुडानिया का कहना है कि माैजूदा हालत काे देखते हुए सीवरेज प्राेपर्टी कनेक्शन किया जाना ठीक नहीं हाेगा। सीवरेज लाइन डली नहीं है, एसटीपी शुरू नहीं हुआ, ऐसे में सीवरेज प्राेपर्टी कनेक्शन कर भी दें ताे क्या लाभ हाेगा।

लापरवाही विभागों की, लोग भुगत रहे हैं खामियाजा

3 ई छाेटी में सबसे पहले सीवरेज डला। आज वहीं के लाेग सबसे अधिक परेशानी में हैं। स्थानीय लाेगाें ने हाल ही मेंयूआईटी में धरना-प्रदर्शन किया। लाेगाें का कहना 5-6 साल से सीवरेज की वजह से परेशानी भुगत रहे हैं। आज तक सीवरेज से घराें के कनेक्शन नहीं हुए, जहां हुए वे और अधिक परेशान हैं।

सीवर का पानी बैक हाेकर लाेगाें के घराें में आ जाता है। सड़काें पर चैंबर खुले पड़े हैं, गंदा, बदबूदार सीवर का पानी सड़काें पर खड़ा रहता है। वार्ड 49 में पार्षद अशाेक मुंजराल का कहना है कि सीवर लाइन ही नहीं डली, इसी तरह वार्ड 44 पार्षद रामगाेपाल यादव का कहना है कि अनेक बार सीवरेज का काम पूरा करने के लिए निवेदन किया, लेकिन आज तक पूरा नहीं हुआ। गुरुवार काे जवाहरनगर में यूआईटी के पूर्व अध्यक्ष ज्याेेति कांडा के आवास के पास सीवरेज का पानी बैक हाेने से लाेगाें काे परेशानी का सामना करना पड़ा।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement