नौ दिन होगी बजरंगबली की आराधना:यहां नवरात्र में होती है बजरंगबली की पूजा, 216 घंटे लगातार गूंजेगा राम नाम संकीर्तन, अन्न क्षेत्र श्रीराम मंदिर में शुरू हुआ आयोजन

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर के अन्न क्षेत्र श्रीराम मंदिर में संकीर्तन करते श्रद्धालु। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर के अन्न क्षेत्र श्रीराम मंदिर में संकीर्तन करते श्रद्धालु।

आम तौर पर नवरात्र पर देवी दुर्गा की आराधना होती है, लेकिन श्रीगंगानगर के अन्न क्षेत्र श्री राम मंदिर में लगातार अगले नौ दिन तक बजरंग बली की आराधना होगी। इस दौरान बजरंग बली को रिझाने के लिए लगातार नौ दिन और रात को ' सियाराम जय-जय सिया राम, सियाराम जयराम जय-जय राम ' का संकीर्तन होगा। आयोजन गुरुवार को शुरू हुआ तथा पंद्रह अक्टूबर तक लगातार चलेगा। इस दौरान लगातार भंडारा भी चलता रहेगा।

कई तरह के हुए पूजन
कार्यक्रम की शुरुआत ध्वजारोहण से हुई। इसके बाद कलश पूजा, यज्ञ पूजा, राम दरबार पूजा, हनुमान दरबार पूजा, अन्नपूर्णा पूजा, शिवलिंग पूजा, हनुमान चौक पूजा, राम नाम संकीर्तन पूजा और अन्नपूर्णा भंडार की पूजा के बाद आयोजन की शुरुआत की गई।

31 वर्ष से चल रही परम्परा
नवरात्र में देवी दुर्गा की पूजा के स्थान पर बजरंग बली के लिए अखंड रामनाम जाप की परम्परा का कारण जानना चाहने पर मंदिर से जुड़े अजय कृष्ण स्वामी ने बताया कि इसके पीछे कोई बड़ा कारण नहीं था। उनके पिता सूरज नारायण स्वामी को यहां राम मंदिर स्थापित करवाना था और इसके लिए यहां हनुमान चौक स्थापित किया गया। मंदिर संस्थापक सूरज नारायण स्वामी का मानना था कि हनुमान जी विराजेंगे तो भगवान राम भी आएंगे। हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए लगातार प्रतिवर्ष अखंड राम नाम संकीर्तन करवाया तो आखिर भगवान राम की कृपा भी हुई और यहां राम मंदिर तैयार हुआ।

नौ दिन लगातार होगा अखंड रामनाम जाप
शारदीय नवरात्र में शहर के प्रमुख कार्यक्रमों में शामिल इस आयोजन में बड़ी संख्या में लोगों की भागीदारी रहती है। सुचारु रूप से अखंड राम नाम संकीर्तन के लिए चार-चार घंटे संकीर्तन करने वाली छह टीमें बनाई गई हैं। हर टीम अपने निर्धारित समय अनुसार संकीर्तन करती है और नौ दिन तक यह संकीर्तन सुचारु रूप से हो पाता है।

खबरें और भी हैं...