पाकिस्तान से लौटा वीरसिंह MP रवाना:पाकिस्तान की ओर से पुशबैक किए वीरसिंह को लेने पहुंचे परिजन, सुरक्षा जांच में नहीं मिली  आपत्तिजनक सामग्री

श्रीगंगानगर (केसरीसिंहपुर)6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर में पाकिस्तान की सीमा में घुसा था युवक, अब अपने घर रवाना। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर में पाकिस्तान की सीमा में घुसा था युवक, अब अपने घर रवाना।

करीब तीन माह पहले भारतीय सीमा पार कर पाकिस्तान में प्रवेश कर गए मध्यप्रदेश के खरगौन निवासी युवक वीरसिंह को लेने के लिए मंगलवार को परिजन पहुंचे। वीरसिंह को सकुशल देखकर परिजन आंसू नहीं रोक पा रहे थे। परिजनों का कहना था कि वीरसिंह मानसिक विक्षिप्त होने के कारण पहले भी कई बार घर से निकल जाता था लेकिन कुछ समय बाद लौट आता लेकिन इस बार वह मध्यप्रदेश से राजस्थान तथा वहां से पाकिस्तान तक पहुंच गया।

पाकिस्तानी रेंजर ने किया था पुशबैक

उसे फ्लैग मीटिंग के दौरान पाकिस्तानी रेंजर ने बीएसएफ को सौंप दिया था। बीएसएफ ने उसे पुलिस को सौंपा तथा एसपी के निर्देश पर उसे ज्वाइंट इन्वेस्टिगेशन सेंटर भेजने के निर्देश दिए गए। जहां से उसे जांच के बाद मध्यप्रदेश भेजने का निर्णय किया गया।

मानसिक रोगी वीर सिंह को पुलिस थाना में सब इंस्पेक्टर राजेन्द्र लेघा ने परिजनों के सुपुर्द कर दिया । उसे लेने के लिए पिता भीम सिंह, भाई रामलाल, विधायक सचिन बिरला के निजी सचिव पृथ्वी सिंह, मध्यप्रदेश के बेड़ियां थाना के सिपाही अर्जुन सिंह सहित सात लोग पहुंचे ।

नहीं मिली कोई आपत्तिजनक सामग्री
वीर सिंह से श्रीगंगानगर स्थित संयुक्त इनवेस्टिगेशन सेंटर में विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों ने पूछताछ की । वह मानसिक विक्षिप्त पाया गया है । उसके पास किसी भी प्रकार की आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली है। उसके जासूसी या राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कोई संकेत नहीं मिले हैं । इस पर एसपी के निर्देश पर उसे उसके गांव भेजने की प्रक्रिया शुरू की गई ।

परिवार में हैं पिता, पत्नी और दो बेटे

वीर सिंह के परिवार में उसकी पत्नी सोनू , भाई श्यामलाल, पिता भीम सिंह के अलावा दो बेटे भी हैं । मानसिक रोग के चलते इससे पहले भी वह अपने गांव से दो-तीन बार जा चुका है । लेकिन वापस लौट कर आ जाता था । इसी कारण संबंधित थाना में उसकी गुमशुदगी दर्ज नहीं है । मध्यप्रदेश के खरगौन जिले के बेड़िया थाना के थाना प्रभारी ने इस संबंध में जानकारी सहित पत्र प्रेषित किया है । इसमें उसके मानसिक होने का भी जिक्र किया गया है।

विक्षिप्त होने के कारण चला गया सीमा पार

उल्लेखनीय है कि 17 जुलाई को पाकिस्तानी रेंजर्स ने श्रीगंगानगर जिले की पांच एस चैक पोस्ट पर फ्लैग मीटिंग कर मध्यप्रदेश के खरगौन निवासी वीर सिंह पुत्र भीमसिंह को बीएसएफ को सौंपा था । वह करीब तीन माह पहले मानसिक विक्षिप्तता के चलते अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर पाकिस्तान चला गया था । पाकिस्तानी रेंजर्स के पूछताछ के दौरान वह मानसिक रोगी ही पाया । इसी आधार पर उसे पुश बैक किया गया था । पुश बैक करने के बाद भारतीय सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय हो गई । जेआइसी में भी पूछताछ की गई।

खबरें और भी हैं...