पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेमडेसिविर इंजेक्शनाें की कालाबाजारी:रेमडेसिविर मामला: एमआर गिरफ्तार, पीएमओ व एलटी के बयान दर्ज

श्रीगंगानगर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बिना सैंपल दिए कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट निगेटिव बनाने के मामले की जांच अब स्वयं सदर थानाधिकारी हनुमानाराम बिश्नोई कर रहे हैं। सदर पुलिस ने इस मामले में शनिवार को जांच शुरू करते हुए पीएमओ बलदेविसंह चौहान और लैब टेक्नीशियन पवनकुमार के बयान लेखबद्ध किए हैं। रविवार या सोमवार तक कोरोना लैब में डयूटी कर रहे शेष लैब टेक्नीशियनों के भी बयान दर्ज किए जा सकते हैं। इधर जवाहरनगर पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शनाें की कालाबाजारी मामले में एमआर भरत सचदेवा काे गिरफ्तार कर लिया है।

सदर थानाधिकारी सीआई हनुमानाराम बिश्नाेई ने बताया कि जिला अस्पताल के कार्यालय सहायक गाेविंदसिंह राजपूत द्वारा पेश की गई रिपाेर्ट पर दर्ज मुकदमे की जांच शुरू कर दी गई है। इस मामले में शनिवार काे पीएमओ और उस लैब टेक्निशियन पवनकुमार के बयान लिए गए हैं जिसे सहायक प्रशासनिक अधिकारी धीरज गहलाेत ने नर्सिंग अधीक्षक कार्यालय के माेबाइल फाेन से काॅल कर अपने पुत्र राहुल की आरटी पीसीआर रिपाेर्ट करने काे रजिस्ट्रेशन करवाया था। अभी जांच आरंभ की गई है। पता लगाया जाएगा कि यह जांच रिपाेर्ट राहुल के सैंपल दिए बिना ही निगेटिव कहां से तैयार की गई है। काेराेना सैंपल लैब की वेबसाइट का संबंधित तारीख का डेटा भी चेक किया जाएगा।

एसएचओ सदर हनुमानाराम बिश्नाेई ने बताया कि मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है और जल्दी ही यह पता लगा लिया जाएगा कि राहुल की फर्जी आरटी पीसीआर रिपाेर्ट किसने और कैसे तैयार की थी।

खबरें और भी हैं...