दिव्यांगों को सुविधा देने में मॉडल स्टेट बनेगा राजस्थान:विशेष योग्यजन आयोग के स्टेट कमिश्नर ने सुनीं समस्याएं

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
श्रीगंगानगर में जनसुनवाई करते विशेष योग्यजन आयोग के राज्य आयुक्त उमाशंकर शर्मा।

राजस्थान दिव्यांगों को सुविधा देने के मामले में मॉडल स्टेट बनेगा। दिव्यांगों को प्रदेश में लगातार सुविधाएं दी जा रही हैं। यह कहना है विशेष योग्यजन आयोग के स्टेट कमिश्नर उमाशंकर शर्मा का। उन्होंने शनिवार को श्रीगंगानगर के सर्किट हाउस में दिव्यांगों की समस्याएं सुनी और अधिकारियों को समस्याओं के तुरंत निराकरण को निर्देश दिए।

शर्मा ने कहा कि दिव्यांगों की समस्याओं का तुरंत निस्तारण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि दिव्यांगों को काम शुरू करने के लिए लोन मंजूर होना चाहिए। ट्राइसाइकिल सहित अन्य समस्याओं का समाधान हो। उन्होंने लीड बैंक और जिला उद्योग केंद्र के प्रतिनिधियों से इस संबंध में तुरंत कार्रवाई के लिए कहा। दिव्यांगों को ई-रिक्शा के लिए आसानी से लोन दिया जाना चाहिए। जिससे कि वे आसानी से अपना जीवन यापन कर सकें। सामाजिक न्याय एव अधिकारिता विभाग में विकलांगों को ऊपरी मंजिल पर ऑफिस होने से होने वाली परेशानी के बारे में बताना पर उनका कहना था कि इस समस्या का शीघ्र समाधान किया जाएगा।

पहली सुनी हर दिव्यांग की परेशानी
शर्मा ने सुबह सर्किट हाउस में सुबह दोपहर करीब बारह बजे जनसुनवाई शुरू की। उन्होंने हर दिव्यांग की परेशानी सुनी। कइयों के ज्ञापन लिए और उनके समाधान के लिए तुरंत दिशा निर्देश दिए।