पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ये है सांसों वाला बैंक:तपोवन ने 6 कंसंट्रेटर मशीनों के साथ शुरू किया था ऑक्सीजन बैंक, अब 30 हुई, 100 को जिंदगी

श्रीगंगानगर14 दिन पहलेलेखक: मयूर पारीक
  • कॉपी लिंक
तपाेवन ऑक्सीजन बैंक के तहत मरीज काे उपलब्ध करवाई गई ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन। - Dainik Bhaskar
तपाेवन ऑक्सीजन बैंक के तहत मरीज काे उपलब्ध करवाई गई ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन।
  • ऑक्सीजन बैंक की ओर से श्रीगंगानगर ब्लाॅक में 20 लाेगाें की टीम ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन की दे रही निशुल्क सेवा

काेराेना संक्रमिताें की संख्या बढ़ने के साथ ही राज्य में ऑक्सीजन की मांग भी लगातार बढ़ती जा रही है। राेज अनेक लाेग ऑक्सीजन की कमी से अपनी जान गंवा रहे हैं। ऐसे में शहर में 22 नवंबर 2020 काे 7 लाख रुपए की लागत से 6 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन के साथ तपाेवन ऑक्सीजन बैंक की शुरुआत की गई। अब यहां अाॅक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनाें की संख्या 30 तक पहुंच चुकी है। इनकी लागत करीब 20 लाख रुपए है। इस मशीन से अब तक करीब 100 से अधिक लाेग फायदा ले चुके हैं। इस बैंक के अध्यक्ष महेश पेड़ीवाल बताते हैं कि इस मशीन का सबसे ज्यादा फायदा काेराेना व अस्थमा मरीजाें काे मिल रहा है। यह मशीनें अभी श्रीगंगानगर ब्लाॅक में ही उपलब्ध करवाई जा रही हैं। मशीनाें के लिए अबाेहर, मलाेट, फाजिल्का, हनुमानगढ़ व सूरतगढ़ तक से मरीजाें की काॅल आ रही है।
काेराेना मरीजाें के लिए जरूरत महसूस हुई तब शुरू किया ऑक्सीजन बैंक

2020 में जैसे-जैसे काेराेना वायरस का संक्रमण फैलना कम हुआ था तब पाॅजिटिव हुए लाेगाें में ऑक्सीजन की कमी महसूस हाेनी भी शुरू हाे गई थी। ऑक्सीजन के लिए लाेग हजाराें रुपए तक खर्च करने काे मजबूर हैं। इसके अलावा हाॅस्पिटल में भर्ती हाेने पर यह खर्चा लाखाें तक पहुंचना शुरू हाे जाता है। काेराेना मरीजाें की इसी पीड़ा काे देखते हुए शहर में ऑक्सीजन बैंक की शुरुआत करने का मन में विचार अाया ताकि लाेगाें काे ऑक्सीजन के साथ ही आर्थिक नुुकसान से भी बचाया जा सके। इस संबंध में मैंने शहर के लाेगाें व सामाजिक संस्थाओं से बातचीत शुरू की। इस कड़ी में मैं मारवाड़ी युवा मंच श्रीगंगानगर व राेटरी क्लब श्रीगंगानगर सिटी के पदाधिकारियाें से मिला क्याेंकि मैं इन क्लबाें से जुड़ा हुआ हूं। इन दाेनाें क्लबाें ने 2-2 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन देने की सहमति प्रदान की। 22 नवंबर 2020 काे 6 अाॅक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनाें के साथ यह बैंक शुरू किया गया। इसके बाद यह कारवां लगातार बढ़ता गया। अब ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनाें की संख्या 30 तक पहुंची चुकी है। इससे सैकड़ाें लाेग लाभान्वित भी हाे चुके हैं। तपाेवन ट्रस्ट की ओर से ऑक्सीजन प्लांट लगाने की याेजना पर भी काम शुरू कर दिया गया है। जैसा कि एसीबी डीवाइएसपी व तपाेवन ऑक्सीजन बैंक के संयाेजक वेद प्रकाश लखाेटिया ने बताया

1 घंटे में 5-6 लीटर ऑक्सीजन तैयार करती है ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन

महेश पेड़ीवाल ने बताया कि काेराेना व अस्थमा के मरीजाें काे ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन 7 दिनाें के लिए उपलब्ध करवाई जा रही है। मरीज काे ज्यादा जरूरत हाेने पर दिनाें की संख्या काे बढ़ाया भी जा रहा है ताकि मरीज काे इस मशीन से पूरा लाभ मिल सके। इस काम में 20 से अधिक युवाओं की टीम भी काम कर रही है। उन्हाेंने बताया कि यह मशीन 1 घंटे मे 5-6 लीटर ऑक्सीजन तैयारी करती है। यह मशीन गंभीर रूप से बीमार व्यक्ति के काम की नहीं है। इनके लिए ऑक्सीजन के सिलेेंडर ही लगाने पड़ते हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें