पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शैक्षणिक सत्र:शिक्षकाें काे स्कूल में देनी हाेगी उपस्थिति, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए विद्यार्थी स्कूल नहीं आएंगे

श्रीगंगानगर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद जिलेभर के 3 हजार से अधिक सभी सरकारी और निजी स्कूल साेमवार से खुलेंगे। इस माह नया शैक्षणिक सत्र 2021-22 शुरू हो जाएगा। ऐसे में माध्यमिक शिक्षा निदेशक साैरभ स्वामी के आदेशों के अनुसार 7 जून से टीचर्स को स्कूल में उपस्थिति देनी होगी। 8 जून से 50 प्रतिशत स्टाफ संस्था प्रधान की ओर से निर्धारित रोटेशन के अनुसार स्कूल में आएगा।

यानी इस दिन से आधे शिक्षक आएंगे और आधे अगले दिन आएंगे। कौनसा शिक्षक किस दिन आएगा इसका रोटेशन तय कर सभी की ड्यूटी लगाई जाएगी। वहीं, जो शिक्षक अपने वर्क एरिया से बाहर हैं वे 10 जून को परिवहन सेवाएं शुरू होने पर स्कूल ज्वाइन करेंगे। इससे पहले इन शिक्षकों को स्कूल आने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकेगा।

इसके बाद 19 जून से आधे टीचर्स स्कूल में रहेंगे और आधे आओ घर में सीखें 2.0 कार्यक्रम के तहत फील्ड में रहकर विद्यार्थियों के घर जाएंगे और वर्कबुक आदि से होमवर्क का काम देंगे। इसके साथ ही विद्यार्थियों को सोशल मीडिया ग्रुप से जोड़ेंगे ताकि वे ऑनलाइन पढ़ाई भी कर सकें। ऑफलाइन क्लासेज अभी नहीं लगाई जाएंगी। शिक्षकाें ने कहा कि कोरोना के दृष्टिगत शिक्षकों को घर-घर भेजना गलत बात है। विभाग काे शिक्षकाें व उनके परिवार के लाेगाें के बारे में साेचना चाहिए। बता दें कि लगातार इस साल भी बच्चाें की पढ़ाई काफी बाधित हुई है।

शिक्षक संघाें ने कहा कि अभी काेराेना महामारी का डर बना हुआ है। बच्चे स्कूल नहीं आ रहे हैं। इसलिए शिक्षकाें काे घर से ही काम करने के लिए आदेश जारी किए जाएं। शिक्षकाें ने बताया कि इससे पहले भी लाॅकडाउन में शिक्षकाें ने वर्क फ्राॅम हाेम के तहत बच्चाें काे पढ़ाई करवाई। इस बार भी शिक्षक बच्चाें काे घर पर रहकर पढ़ाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

आदेशाें की पालना नहीं करने वालाें पर हाेगी कार्रवाई
साेमवार से जिलेभर के सभी सरकारी व निजी स्कूल खुल जाएंगे। इसके लिए सभी तरह की तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। काेराेना महामारी की वजह से बच्चाें की पढ़ाई किसी भी हाल में बाधित नहीं हाे इसके लिए सभी शिक्षकाें काे निर्देशित किया जा चुका है। जिलेभर के सभी संस्था प्रधानाें व शिक्षकाें की ओर से आओ घर में सीखें 2.0 कार्यक्रम की पालना नहीं करने पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
- हंसराज यादव, कार्यवाहक सीडीईओ, श्रीगंगानगर

खबरें और भी हैं...