घी के बदले दिया सोना:दुकानदार ने चैक किया तो निकला नकली, तीन लाख से ज्यादा रुपए की ठगी

श्रीगंगानगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर का चूनावढ़ पुलिस थाना। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर का चूनावढ़ पुलिस थाना।

दुकानदार को नकली सोना देकर साढ़े तीन लाख रुपए ठगने का मामला सामने आया है। ठगों ने दुकानदार को यूपी का पता बताया। सोना लेने के बाद पीड़ित ने उसे जांचा तो नकली निकला। आरोपियों का फोन भी स्विच ऑफ निकला। उनका पता भी फर्जी निकला।

श्रीगंगानगर के गांव चार एचएच के गिरधारीलाल ने बताया कि वह गांव में परचून का काम करता है। साढ़े तीन महीने पहले उसकी दुकान पर दो लोग एक बच्चे को साथ लेकर आए। इन लोगों ने घी मांगा। उसने उन्हें घी दे दिया। इस पर इन दोनों ने कहा कि उनके पास रुपए नहीं है, सोने के दो मोती हैं। आप ये रख लें। अपना फोन नंबर देकर कहा कि आप इन दो सोने के मोतियों का भाव पता करवा लें। ये जितनी कीमत के हों, उनमें से घी की कीमत घटाकर हमें रुपए दे दें। गिरधारीलाल ने मोती रख लिए। उन्हें चैक करवाकर उसकी कीमत का पता किया। इसके बाद दोनों के दिए नंबर पर फोन कर उन्हें बताया कि वे उसकी दुकान पर आकर मोतियों की कीमत में से घी के रुपए घटाने के बाद शेष 2800 रुपए ले जाएं। इस पर एक व्यक्ति ने उसके पाास आकर 2800 रुपए ले लिए। उसने खुद को जैसलमेर तथा जालौर इलाके का मजदूर बताया।

दोनों ने बिछाया जाल
जब गिरधारी लाल उनके जाल में फंसता नजर आया तो दोनों ने प्लानिंग की। उन्होंने गिरधारीलाल को बताया कि उनके पास सोने के मोतियों की पुरानी माला है। वे उसे वह माला साढ़े तीन लाख रुपए में दे देंगे। सस्ते सोने के लालच में गिरधारीलाल ने वह माला खरीदने का फैसला किया। इस बार माला बेचने के लिए उसके पास दो लोग आए। इन लोगों ने अपना नाम संजय पुत्र जोधाराम और प्रकाश पुत्र दीपसिंह बताया। दोनों ने अपने मोबाइल नंबर दिए दिए। सोने में कोई कमी मिलने पर अपना उत्तर प्रदेश के खानपुर का पता देकर वहां संपर्क के लिए कहा। गिरधारीलाल को जब उन पर पूरा विश्वास हो गया तो उसने उन्हें साढ़े तीन लाख रुपए देकर माला अपने पास रख ली। जांच करवाने पर यह माला नकली निकली। इस पर गिरधारीलाल ने शुक्रवार को चूनावढ़ थाने पहुंचकर जालौर और जैसलमेर के रहने वाले संजय बागड़ी, नरेश बागड़ी तथा दोअन्य खिलाफ मामला दर्ज करवाया।

पहले भी हुई है ऐसी वारदात
कुछ दिन पहले भी इलाके में ऐसी वारदात हो चुकी है। गांव मोहनुपरा के परचून दुकानदार नरोत्तम शर्मा को भी करीब बीस दिन पहले इसी तरह से दो सोने के मोती देकर झांसा दिया गया था। शर्मा ने उन्हें मिर्जेवाला फाटक के पास और सोना खरीदने के लिए बुलाया और उनकी बातों पर शक होने पर पुलिस को मामले की सूचना दे दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।