आबकारी थाने का जमादार रिश्वत लेते गिरफ्तार:ठेकेदार से शराब ठेका चलाने और अवैध ब्रांच चालू करने की एवज में मांगी रिश्वत, एसीबी ने 5 हजार घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा

श्रीगंगानगर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसीबी की गिरफ्त में रिश्वत लेने का आरोपी। (लाल घेरे में) - Dainik Bhaskar
एसीबी की गिरफ्त में रिश्वत लेने का आरोपी। (लाल घेरे में)

शराब ठेका चलाने और अवैध ब्रांच चालू करने की एवज में रिश्वत मांगने पर श्रीगंगानगर एसीबी ने हनुमानगढ़ के आबकारी थाने के जमादार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। यह कर्मचारी 2 हजार रुपए प्रतिमाह के हिसाब से मंथली मांग रहा था। एसीबी ने सत्यापन करवाया तो डेढ़ हजार रुपए प्रतिमाह लेना तय हो गया। 4 महीने के लिए 6 हजार रुपए लेने का तय होने पर सत्यापन के वक्त आरोपी को 1 हजार रुपए दिए गए। मंगलवार को श्रीगंगानगर एसीबी ने कार्रवाई करते हुए आरोपी को 5 हजार रुपए लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

परिवादी हेतराम को हनुमानगढ़ के आबकारी विभाग से वर्ष 2021-22 के लिए गांव लिखमीसर में शराब की कंपोजिट दुकान आवंटित हुई थी। इस दुकान का संचालन परिवादी और उसका दोस्त राकेश आजाद करते है। आबकारी थाना हनुमानगढ़ का जमादार होशियारसिंह ठेका चलाने और अवैध ब्रांच के लिए दो हजार रुपए प्रतिमाह के हिसाब से 4 महीने की बंधी की मांग कर रहा था। इस पर परिवादी ने एसीबी को शिकायत दी।

डीएसपी भूपेंद्र सोनी की देखरेख में ब्यूरो की टीम ने कार्रवाई शुरू की। सत्यापन के दौरान आरोपी होशियारसिंह 1500 रुपए प्रतिमाह लेने पर तैयार हुआ। सत्यापन के समय सोमवार को उसने एक हजार रुपए लिए और शेष 5 हजार रुपए मंगलवार को देना तय हुआ। मंगलवार को परिवादी हेतराम आरोपी होशियारसिंह को रुपए देने के लिए पहुंचा। इस दौरान एसीबी की टीम भी आसपास रही। आरोपी के मंथली बंधी राशि के पांच हजार रुपए लेते ही एसीबी ने उसे धर दबोचा। कार्रवाई में डीएसपी वेदप्रकाश लखोटिया, एसीबी टीम के इंस्पेक्टर विजेंद्र कुमार सीला, एएसआई हंसराज शर्मा, संजीव कुमार, भवानीसिंह, आशीष कुमार, सूबेसिंह आदि का सहयोग रहा।

खबरें और भी हैं...