पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी:किसानों ने सरकार को समर्थन मूल्य पर चना व सरसों बेचा अब डेढ़ माह से भुगतान काे तरसे, 44.27 कराेड़ रु. बकाया

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बेचे गए चने सरसाें के भुगतान के लिए अब खरीद एजेंसी व सरकारी दफ्तराें के चक्कर काट रहे

समर्थन मूल्य पर डेढ़ माह पहले सरकार काे चना व सरसाें बेचने वाले 3871 किसान अब भी भुगतान काे तरस रहे हैं। ये लाेग बेचे गए चने सरसाें के भुगतान के लिए अब खरीद एजेंसी व सरकारी दफ्तराें के चक्कर काट रहे हैं। भुगतान नहीं मिलने के कारण आर्थिक तंगी झेल रहे इन किसानाें का 44.27 कराेड़ रुपए बकाया है। खरीद एजेंसी के अधिकारी अब प्रदेश स्तर पर भुगतान लंबित हाेने की बात कह रहे हैं। प्रदेश में सरकार काे चना व सरसाें बेचने वाले किसानाें का लगभग 17 साै कराेड़ रुपए बकाया है।

जिले में राजफैड की ओर से चना व सरसाें की किसानाें से समर्थन मूल्य पर खरीद की गई। 25 जून के बाद जिन किसानाें ने सरकार काे चना व सरसाें बेची उन किसानाें काे अब तक भुगतान नहीं मिला है। पीड़ित किसानाें ने बताया कि खरीद एजेंसी के अधिकारी जयपुर स्तर पर भुगतान लंबित हाेने की बात कह रहे हैं। साथ ही बेचे गए चने व सरसाें की राशि सीधे खाताें में जमा हाेने की बात कह रहे हैं।

फसल बेचने के बाद राशि नहीं मिलने से आगामी फसलाें की बुवाई के लिए भी कर्ज लेना पड़ा रहा है। आर्थिक तंगी के चलते परिवार का खर्च भी नहीं निकल पा रहा है। पीड़ित किसान अब अपने आप काे ठगा का महसूस कर रहे हैं। सरकार काे चना बेचने वाले 950 किसानाें का 11.27 कराेड़ रुपए बकाया है। वहीं, एमएसपी पर सरसाें बेचने वाले 2921 किसानाें की 33 कराेड़ रुपए की राशि बकाया है, जिसका भुगतान अब तक नहीं हुआ है।

किसानाें के साथ धाेखा, तुरंत किया जाए राशि का भुगतान
न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकार काे कृषि जिंसें बेचने वाले किसानाें काे तुरंत भुगतान की व्यवस्था है। इसके बावजूद डेढ़ माह बीतने के बाद भी बड़ी तादाद में किसानाें काे चना व सरसाें का भुगतान नहीं मिला है। यह किसानाें के साथ धाेखा है। पीड़ित किसानाें काे बकाया राशि का तुरंत भुगतान करना चाहिए। साथ ही देरी के लिए बकाया राशि का ब्याज भी किसानाें काे मिलना चाहिए। - संतवीर सिंह, ग्रामीण किसान मजदूर संघर्ष समिति श्रीगंगानगर।

15 दिन में बकाया भुगतान नहीं किया ताे करेंगे आंदाेलन
काेराेना काॅल में हर वर्ग प्रभावित है। किसानाें ने अपनी चना व सरसाें की उपज सरकार काे एमएसपी पर इस कारण बेची कि उन्हेंं घर खर्च चलाने व आगामी फसल की बुवाई के लिए नकद राशि की जरूरत थी। लेकिन सरकार ने भुगतान नहीं करके किसानाें के साथ धाेखा किया है। वर्तमान में चना व सरसाें के भावाें में तेजी है। सरकार काे तुंरत भुगतान करना चाहिए। 15 दिन में भुगतान नहीं किया ताे आंदाेलन किया जाएगा। - एडवाेकेट सुभाष सहगल, प्रवक्ता, किसान संघर्ष समिति श्रीगंगानगर।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप धैर्य व विवेक का उपयोग करके किसी भी समस्या को सुलझाने में सक्षम रहेंगे। आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। परिवार के लोगों की छोटी-मोटी जरूरतों का ध्यान रखना आपको खुशी प्र...

और पढ़ें