BSF के जवानों ने युवती को बंधक बनाकर किया रेप:दूध लेने गई थी; डेयरी मालिक-कर्मचारी भी शामिल, 5 पर केस

श्रीगंगानगर3 महीने पहले

श्रीगंगानगर के रायसिंहनगर में युवती से रेप का मामला सामने आया है। रेप करने वालों में तीन बीएसएफ (सीमा सुरक्षा बल) जवान भी शामिल हैं। घटना रायसिंहनगर की कुम्हार बस्ती के एक दूध डेयरी के गोदाम में हुई। युवती ने डेयरी मालिक और उसके कर्मचारी सहित पांच के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।

मामले में युवती ने तीन बीएसएफ जवानों के भी शामिल होने की शिकायत की थी। पीड़िता का कहना है कि वह उनके नाम नहीं जानती। पुलिस ने इस मामले में डेयरी मालिक और उसके कर्मचारी से घटना के बारे में जानकारी जुटाई है। उसके बाद बीएसएफ जवानों को भी उच्च अधिकारियों की अनुमति के बाद पूछताछ कर गिरफ्तार कर लिया गया। अधिकारियों का कहना है कि अब पीड़िता से इनकी पहचान कराई जाएगी।

दूध लेने गई थी युवती
पीड़ित युवती मूल रूप से श्रीगंगानगर की रहने वाली है। अभी रायसिंहनगर में रह रही है। युवती ने पुलिस को बताया कि वह शुक्रवार शाम दूध लेने डेयरी पर गई थी। आरोप है कि वहां डेयरी मालिक वेदप्रकाश उर्फ श्योपत (26) व उसके कर्मचारी संजय कुमार (32) ने युवती को कमरे में बंद कर दिया।

इसके बाद वे बीएसएफ के दो हेड कॉन्स्टेबल नेमाराम (30), प्रवीण कुमार (44) व कॉन्स्टेबल संजीव कुमार (34) को भी बुला लाए। पांचों ने रात 8 बजे से देर रात 1 बजे तक युवती से दुष्कर्म किया और 5 घंटे तक कमरे में बंद रखा। पुलिस ने बताया कि नेमाराम यूपी के बागपत का रहने वाला है। वहीं, प्रवीण कुमार और संजीव कुमार पंजाब के पठानकोट के हैं।

रायसिंहनगर थाने में सभी आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। युवती की शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था।
रायसिंहनगर थाने में सभी आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। युवती की शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था।

थाने पहुंचकर दी जानकारी
घटना के बाद युवती ने शनिवार सुबह थाने पहुंचकर पुलिस को मामले की जानकारी दी। हालांकि मामला बीएसएफ से जुड़ा होने के कारण पुलिस डेयरी मालिक और उसके कर्मचारी को तो तुरंत थाने ले आई। बीएसएफ के तीनों जवानों के संबंध में बीएसएफ के उच्च अधिकारियों से अनुमति ली गई। उनकी अनुमति मिलने के बाद तीनों जवानों से पूछताछ शुरू की गई है।

पुलिस ने घटनास्थल से सबूत जुटाए हैं। इसी गोदाम में आरोपियों ने पीड़िता को रात एक बजे तक बंधक बनाकर रखा था।
पुलिस ने घटनास्थल से सबूत जुटाए हैं। इसी गोदाम में आरोपियों ने पीड़िता को रात एक बजे तक बंधक बनाकर रखा था।

पुलिस ने पीड़िता के अदालत में बयान करवाए हैं। शनिवार को ही मेडिकल बोर्ड से उसका मेडिकल भी करवाया गया। इस मामले में रविवार सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की गई। मामले की जांच डीएसपी बिश्नोई को सौंपी गई है।

इस मामले में जांच अधिकारी डीएसपी अनु बिश्नोई का कहना है कि युवती शनिवार सुबह थाने पहुंची थी। प्रथम दृष्टया तो उसके साथ रेप की पुष्टि हुई है। घटना में तीन बीएसएफ जवान भी शामिल हैं।

एएसपी ने बताया कि बीएसएफ के अधिकारियों को भी इस बारे में जानकारी दी है। जांच के बाद गिरफ्तारी हुई है।
एएसपी ने बताया कि बीएसएफ के अधिकारियों को भी इस बारे में जानकारी दी है। जांच के बाद गिरफ्तारी हुई है।

इस मामले में एएसपी बनवारी लाल मीणा ने बताया- युवती ने 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। इसमें दो सिविलियन और तीन बीएसएफ जवान शामिल हैं। वहीं, बीएसएफ अधिकारियों की अनुमति के बाद बीएसएफ जवानों को भी पूछताछ के लिए एसएचओ रायसिंहनगर को सौंप दिया गया है।

ये भी पढ़ें

बच्चा पैदा करने के लिए रेपिस्ट को पैरोल पर स्टे:हाईकोर्ट ने 15 दिन पत्नी संग रहने की दी थी मंजूरी, सुप्रीम कोर्ट ने रोका

खुद का बच्चा पैदा करने के लिए रेपिस्ट को मिली पैरोल को सुप्रीम कोर्ट ने स्टे लगा दिया है। राजस्थान हाईकोर्ट ने 14 अक्टूबर में दिए अपने एक फैसले में गैंगरेप के दोषी को 15 दिन अपनी पत्नी के साथ रहने की इजाजत दी थी। (पूरी खबर पढ़ें)