पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लालगढ़ से खबर:इकलौते बेटे के गुर्दे खराब, इलाज के लिए पिता ने घर और जमीन बेच दी, रुपये10 लाख खर्च, पैसे खत्म

श्रीगंगानगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंजाब निवासी दंपती लालगढ़ में किराए पर रह रहे, डायलिसिस करवाने के लिए रोज शहर आते हैं

मां-बाप का इकलौता बेटा। अब चरपाई के सहारे। कारण- 2 साल पहले दोनों गुर्दे खराब हो गए। पिता ने बेटे के इलाज के लिए अपना घर, जमीन, जायदाद सब बेच दी। हर जगह इलाज करवाया, लेकिन सभी जगह हार गए। यह कहानी है पंजाब निवासी बलदेवसिंह और कर्मजीत कौर की। जिन्होंने अपने बेटे की जिंदगी बचाने के लिए अपना सब कुछ बेचा दिया। अब यह दंपति श्रीगंगानगर में अपने बेटे का इलाज करवा रहे हैं जिसके कारण लालगढ़ में किराए पर एक छोटा सा घर लिया हुआ है। पढ़िए पूरी कहानी....

मेरा बेटा बचपन से न बोल सकता था और न ही सुन सकता था, लेकिन वह पढ़ाई में काफी अच्छा था। 12वीं की पढ़ाई करने के लिए वह एक वर्कशॉप पर काम करने के लिए लग गया था। ताकि मेरी मदद हो सके, लेकिन भगवान को कुछ और ही मंजूर था। दो साल पहले अचानक दर्द हुआ। डॉक्टर के पास ले गए।

सारे टेस्ट करवाए, पता चला कि बेटे जेपी सिंह के दोनों गुर्दे खराब हो रहे हैं। हम बेटे को लेकर अमृतसर, जयपुर सहित कई अस्पतालों में लेकर गए, लेकिन कहीं कोई आराम नहीं मिला। बेटे के इलाज के लिए पहले जमीन बेची, फिर घर बेचा दिया। अब हम जेपी को लेकर श्रीगंगानगर आए हैं, हर 4 दिन बाद एक निजी अस्पताल में उसका डायलिसिस होता है। पंजाब से आने में मुश्किल होती थी।

उसके लिए हमने लालगढ़ में किराए पर मकान ले लिया। हर डायलिसिस पर करीब 5 हजार रुपए खर्च होते हैं। इलाज में अभी तक करीब 10 लाख रुपए खर्च हो चुके हैं। लेकिन कोई आराम नहीं मिला। अब तो पैसे की बड़ी समस्या आने लगी है। जेपी की मां कर्मजीत कौर भगवान से एक ही दुआ करती है कि बस मेरा बेटा ठीक हो जाए।जैसा कि जेपी के पिता बलदेव सिंह रामगढ़िया ने बताया

खबरें और भी हैं...