पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कुम्हार समाज:महिलाएं दोबारा धानमंडी पहुंचीं, कुम्हार समाज ने बर्तन की दुकान खाली करवाने पर एतराज जताया

श्रीगंगानगर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आयुक्त बोलीं-चूड़ी बेचने वाली महिलाएं व बर्तन वालों को एडजस्ट करेंग

मटका चौक पर मिट्‌टी के बर्तनों की एक अस्थायी दुकान हटाकर वहां पुरानी धानमंडी से चूड़ियां बेचने वाली महिलाओं को शिफ्ट करने के बाद बुधवार को दूसरे दिन भी गतिरोध बना रहा। चूड़ियां बेचने वाली महिलाएं बुधवार को फिर मटका चौक पर दी जगह से उठकर पुरानी धानमंडी स्थित अपने पुराने स्थान पर चली गई। वहां दुकानदार ने इनका विरोध भी किया। कुम्हार समाज के प्रतिनिधिमंडल ने नगरपरिषद की आयुक्त प्रियंका बुडानिया से मुलाकात कर मटका चौक पर कुम्हार परिवार की बर्तनों की दुकान खाली करवाने पर विरोध जताया।

प्रतिनिधिमंडल में शामिल जिला प्रगतिशील कुम्हार समिति के जिला सचिव सत्य रत्तीवाल, महेंद्र बागड़ी, पार्षद जगदीश घोड़ेला व अन्य ने आयुक्त को बताया कि शहर में बहुत लोगों ने अतिक्रमण कर रखे हैं। मटका चौक पर एक परिवार को उजाड़ा गया है। जबकि चूड़ी बेचने वाली महिलाएं मटका चौक पर अपनी थड़ी लगाना नहीं चाहती।

प्रतिनिधिमंडल के अनुसार उन्हें चूड़ी बेचने वाली महिलाओं को मटका चौक पर थड़ी लगाने के लिए जगह देने पर एतराज नहीं हैं। सभी दुकानदारों से थोड़ी-थोड़ी जगह लेकर बर्तन व चूड़ी वालों को एडजस्ट किया जा सकता है। बर्तन बेचने वालों को वेंडिंग जोन के लिए यहां दुकान लगाने के कार्ड जारी किए हुए हैं। आयुक्त प्रियंका बुडानिया के मुताबिक नगरपरिषद का मकसद किसी को उजाड़ना नहीं है।

दोनों को रोजगार की दृष्टि से एडजस्ट किया जाएगा। किसी को नुकसान नहीं होने दिया जाएगा।दूसरी तरफ माकपा नेता व पूर्व विधायक हेतराम बेनीवाल ने नगरपरिषद की कार्रवाई को एक तरफा बताया है। पूर्व विधायक बेनीवाल ने जिला कलेक्टर से बात कर बताया कि नगरपरिषद आयुक्त ने अतिक्रमण हटाने में हाईकोर्ट के आदेशों की पालना नहीं की है।

कार्रवाई में आजीविका चला रही महिलाओं को उजाड़ा गया है। बेनीवाल के अनुसार हाईकोर्ट ने अपने फैसले में स्पष्ट किया है कि नगरपरिषद द्वारा वेंडिंग जोन का चुनाव कर पहले इन महिलाओं को स्थायी जगह अलॉट की जाए। इसके उपरांत उन्हें वहां से हटाया जाए।

खबरें और भी हैं...