पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भास्कर ग्राउंड रिपोर्ट:...तो श्रीगंगानगर यूं लड़ेगा कोरोना से; जिलेभर में मरीजों के लिए बनाए 17 कोविड सेंटर, 5 में इलाज, 12 पर ताले

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 17 सेंटरों पर 710 बेड की क्षमता भी की, लेकिन कहीं स्टाफ नहीं लगाया तो कुछ जगह पानी नहीं, इसलिए बंद पड़े हैं 12 सेंटर

चार महीने से कोरोना का संक्रमण चल रहा है। जिलें में संक्रमण पैर पसार रहा है। अब तक 318 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले चुके हैं। बारह दिन पहले 27 जुलाई को जिला कलेक्टर ने संक्रमण राेकने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक कर युद्ध स्तर पर तैयारियां करने का आह्वान करते हुए सभी 17 काेविड केयर सेंटर (सीसीसी) शुरू करने के निर्देश दिए थे। जिला कलेक्टर महावीर प्रसाद वर्मा के 12 दिन पहले 27 जुलाई को जारी किए निर्देशों के बाद कोरोना के 144 नए मरीज जिले में मिल चुके हैं। लेकिन सभी कोविड केयर सेंटर शुरू नहीं हुए।

वर्तमान में स्वास्थ्य विभाग की ओर से सरकारी स्तर पर स्थापित चार सीसीसी प्रेरणा नशा मुक्ति केंद्र साधुवाली, अनूपगढ़, घड़साना, पंजाब आयुर्वेद कॉलेज सादुलशहर को ही शुरू किया गया है। बिरधवाल में आर्मी का सीसीसी चल रहा है। श्रीकरणपुर में प्राइवेट संस्थान में स्थापित कोविड हेल्थ सेंटर में मरीजों का इलाज चल रहा है। बाकी 12 सीसीसी पर अधूरे इंतजामों की वजह से ताले लगे हुए हैं।

27 जुलाई को हुई बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए थे कि कोरोना के केस बढ़ने पर परेशानी न हो, इसीलिए सभी सीसीसी चालू करने के निर्देश दिए थे। जिले में 710 बेड क्षमता के 17 सीसीसी बनाए गए हैं। साधुवाली, घड़साना, सादुलशहर, श्रीकरणपुर, अनूपगढ़ और बिरधवाल में 48 मरीजों का इलाज रहा है। वर्तमान में जिले में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 140 है।

कलेक्टर ही 27 को आदेश देकर खुद भूल गए, अब बोले- स्वास्थ्य विभाग से इस बारे में पूछिए, मुझे पता नहीं

स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमण का फैलाव ज्यादा होने और कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने पर जिला स्तर पर बनाए गए कोविड डेडिकेटेड अस्पताल पर मरीजों की संख्या ज्यादा न होने, इसके लिए बगैर लक्षणों व कम संक्रमित मरीजों का घर के पास ही इलाज करने के लिए जिले में 17 कोविड केयर सेंटर बनाए हैं।

सरकार की गाइड लाइन के अनुसार कोविड केयर सेंटर पर उन संक्रमित मरीजों काे रखने का प्रावधान है जिनके खांसी, जुकाम, बुखार व सांस में तकलीफ के लक्षण नहीं हैं। जिन्हें ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की जरूरत नहीं है।

पदमपुर में दो सीसीसी बना तो दिए लेकिन दोनों का ही संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए उपयोग नहीं किया गया। यहां सामुदायिक भवन सीसीसी में पानी की व्यवस्था नहीं थी। इसी वजह से इसे चालू नहीं किया गया। वहीं, अग्रवाल धर्मशाला बाजार में है।

वहां लोगों ने एतराज जताया कि इस धर्मशाला में पॉजिटिव मरीज नहीं रखा जाएगा। कस्बे में कोरोना के 12 मरीज मिले थे। अब व्यापार मंडल भवन में 10 बेड का सीसीसी सेंटर बनाया गया है। पहले दो सीसीसी में 40 बेड की क्षमता थी।

जैतसर में 22 कोरोना रोगी, वहां कोविड सेंटर ही नहीं बनाया... जैतसर कस्बे में 22 कोरोना रोगी मिले। इसमें ज्यादातर बगैर लक्षणों के हैं। सभी को इलाज के लिए श्रीगंगानगर भेजा गया। अब जैतसर में कलेक्टर के दौरे के बाद सीसीसी के लिए एक धर्मशाला चिन्हित की गई लेकिन इसमें किसी मरीज को नहीं रखा गया। न ही व्यवस्थाएं नहीं की गई हैं।

मुफ्त में मिल रहे सात सीसीसी को ही प्राथमिकता

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार जिन सरकारी भवनों में सीसीसी बने हुए हैं, उनका किराया नहीं देना पड़ेगा। इन मुफ्त के भवनों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके लिए सात सीसीसी रिड़मलसर, सामुदायिक भवन पदमपुर, केसरीसिंहपुर, निर्वाणा, सूरतगढ़ का अंबेडकर भवन व सामुदायिक भवन व अनूपगढ़ के आश्रय स्थल को चिन्हित किया गया है। बाकी भवन किराए की इमारत में हैं।

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही देखिए... जो भवन अभी तक बना नहीं, उसी में घोषित किया कोविड सेंटर

सूरतगढ़ शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के चारों सीसीसी पर ताले लगे हुए हैं। यहां स्टाफ की ड्यूटी नहीं लगाई है। बीसीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल के अनुसार यहां जरूरत पड़ने पर स्टाफ लगा दिया जाएगा। यहां गांव निरवाणा की नए सीएचसी भवन में बनाए गए सीसीसी बनाया है जिस पर ताला लटक रहा है।

इस भवन को ठेकेदार ने अभी स्वास्थ्य विभाग को सुपुर्द नहीं किया। न ही यहां अन्य सुविधाएं हैं। कागजों में ही सीसीसी बनाने की खानापूर्ति कर ली गई। श्रीकरणपुर में जैन धर्मशाला में सीसीसी बनाने की घोषणा तो कर दी लेकिन ब्लॉक में 38 कोरोना संक्रमित मिलने पर भी किसी काे भी यहां नहीं रखा गया।

सीएचसी प्रभारी डाॅ. नीरज अरोड़ा के अनुसार कोविड केयर सेंटर के लिए स्टाफ पर्याप्त नहीं है। इसे चलाने के लिए संस्थाओं का भी अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा है। यहां निजी संस्थान में संचालित कोविड हेल्थ सेंटर में 15 मरीजों का इलाज चल रहा है।

  • सभी कोविड केयर सेंटर चलाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए सीएमएचओ और जिले के कोविड प्रभारी को निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए व्यवस्थाएं की जा रही है। - महावीर प्रसाद वर्मा, जिला कलेक्टर, श्रीगंगानगर।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अध्यात्म और धर्म-कर्म के प्रति रुचि आपके व्यवहार को और अधिक पॉजिटिव बनाएगी। आपको मीडिया या मार्केटिंग संबंधी कई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, इसलिए किसी भी फोन कॉल को आज नजरअंदाज ना करें। ...

और पढ़ें