पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भास्कर अपील:पंजाब जाने के लिए अब स्टेट बाॅर्डर पर पास की जरूरत नहीं, लेकिन नाके पर बतानी हाेगी अपनी पूरी जानकारी

श्रीगंगानगर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • त्याेहार मनाएं लेकिन मास्क पहनकर, फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ
Advertisement
Advertisement

रक्षाबंधन त्याेहार से दाे दिन पहले राज्य सरकार ने बड़ी राहत देते हुए पंजाब जाने के लिए सभी तरह की औपचारिकताओं काे समाप्त कर दिया है। एक अगस्त से ही बाॅर्डर पर राजस्थान सरकार की ओर से लगाए गए नाके पर श्रीगंगानगर की ओर से पंजाब जाने वालाें के लिए पास की व्यवस्था समाप्त कर दी गई है। हालांकि माैके पर स्टाफ माैजूद है।

पंजाब सरकार की ओर से नाकेबंदी में हर जाने वाले की जानकारी काेवा एप में ली जा रही है। तीन अगस्त काे रक्षाबंधन का त्याेहार है। शनिवार से लेकर साेमवार तक सीमावर्ती राज्य में आवागमन एकाएक अधिक हाेगा। इससे पहले पंजाब जाने के लिए लागू की गई पास व्यवस्था 20 दिन बाद हटा दी गई है।

11 जुलाई काे एकाएक राज्य सरकार ने काेराेना संक्रमण राेकने की आड़ लेकर राज्य से बाहर जाने के लिए नेशनल और स्टेट हाईवे पर नाकेबंदी वापस शुरू करवाई थी। पंजाब जाने के लिए जारी पास नाकाबंदी स्थल पर अधिकारियाें काे दिखाने के बाद ही पंजाब जाने की अनुमति दी जा रही थी।

31 जुलाई तक जिले में कुल 244 राेगी, इनमें 104 बीते 6 दिनाें में ही हुए पाॅजिटिव

सरकार ने काेराेना संक्रमण काे फैलने से राेकने के लिए 11 जुलाई काे राज्य की सीमाएं वापस सील करवाई थीं। इसमें राजस्थान से बाहर जाने वाले लाेगाें के लिए अनुमति पत्र अनिवार्य किया गया था। इस उद्देश्य में सरकार पूरी तरह से फेल हाे गई। 31 जुलाई की शाम तक जिले में 244 काेराेना संक्रमित राेगी पहचाने जा चुके थे। चिंता की बात यह है कि 26 से 31 जुलाई के बीच ही 104 राेगी सामने आ चुके हैं।

नाकेबंदी और सरकारी अनुमति के बिना बाहर जाने की पाबंदी के बावजूद काेराेना समाज में तेजी से फैल रहा है। इसलिए सरकार के नाकेबंदी और पास व्यवस्था पर लाेग सवाल खड़े करने लग गए थे। लाेगाें के विराेध से पहले ही अनलाॅक 3.0 में सरकार काे नाकेबंदी में सख्ती के बजाय राहत देनी पड़ी।

रक्षाबंधन त्याेहार पर दाेनाें राज्याें की बहनाें के लिए राहत भरी खबर, कलाइयाें पर सजेगा प्यार
हिंदू समाज के लिए 3 अगस्त काे रक्षाबंधन का बड़ा त्याेहार है। इससे दाे दिन पहले स्टेट बाॅर्डर पर आवागमन में दी गई शिथिलता से पंजाब और राजस्थान की बहनाें काे बड़ी राहत मिली है। क्याेंकि श्रीगंगानगर जिला पंजाब और हरियाणा राज्य की सीमा से लगता है। इसलिए दाेनाें ही राज्याें के सीमावर्ती जिलाें में रिश्तेदारियां बहुतायत में हैं। पास बनवाने की बाध्यता समाप्त किए जाने से दाेनाें राज्याें की हजाराें बहनाें काे अपने मायके आकर भाई की कलाई पर राखी बांधने में परेशानी नहीं हाेगी।
एक अगस्त काे ही अचानक बढ़ गया आवागमन शंका यह कि कहीं आवागमन बिलकुल न राेक दें
साधुवाली लिंक नहर किनारे राजस्थान सरकार की ओर से लगाए गए नाके पर प्रशासनिक और आरएसी के जवानाें की तैनाती पूर्व की भांति ही है। पंजाब से आने वाले प्रत्येक वाहन का नंबर और चालक का नाम पता दर्ज करने की प्रक्रिया जारी है।

श्रीगंगानगर से अपने पति के साथ बाइक पर पंजकाेसी भाई काे राखी बांधने जा रही सुनीतादेवी ने बताया कि वे त्याेहार से दाे दिन पहले इसलिए जा रहे हैं कि कहीं सरकार बाॅर्डर काे पूरी तरह सील न कर दे। इसके बाद ताे आवागमन बिलकुल ही बंद हाे जाएगा।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement