ग्राहक खुश पर डीलर मायूस:पेट्रोल-डीजल भरवाने अभी भी पंजाब जा रहे लोग, डीलर्स को नहीं मिला फायदा

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
श्रीगंगानगर में पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भरवाता युवक। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर में पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भरवाता युवक।

केंद्र सरकार के पेट्रोल पर आठ और डीजल पर छह रुपए एक्साइज ड्यूटी घटाने का शहर के आम लोगों को तो फायदा मिला है लेकिन पेट्रोलियम डीलर अब भी मायूस हैं। उन्हें अब भी रेट में आई इस कमी से कोई बड़ा फायदा नहीं मिलने वाला। एक्साइज ड्यूटी सेंट्रल गवर्नमेंट की ओर से घटाए जाने से पंजाब और राजस्थान के पेट्रोल-डीजल के दामों में मामूली अंतर आया है। यह पहले भी करीब 18 रुपए था और अब भी करीब 17 रुपए बना हुआ है। ऐसे में पेट्रोलियम डीलर्स का कहना है कि उन्हें दामों में कमी का कोई फायदा नहीं हुआ है। आम आदमी को जरूर कुछ लाभ हुआ है।

यूं घटे दाम
एक्साइस ड्यूटी घटाए जाने से श्रीगंगानगर में पेट्रोल में 9.70 रुपए और डीजल में 7.16 रुपए की कमी आई है। इसके बाद जहां शनिवार रात बारह बजे से पहले तक पेट्रोल 123.16 पैसे और डीजल 113.60 रुपए था वहीं शनिवार रात बारह बजे के बाद पेट्रोल के दाम 105.55 रुपए और डीजल 98.35 रुपए प्रति लीटर हो गया।

पंजाब से अब भी करीब 17 रुपए का अंतर

सेंट्रल गवर्नमेंट के एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद भी राजस्थान के मुकाबले पंजाब में दामों में 16.62 रुपए प्रति लीटर का अंतर है। श्रीगंगानगर पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष आशुतोष गुप्ता बताते हैं एक्साइज ड्यूटी घटाने का डीलर्स को कोई लाभ नहीं है अब भी पंजाब के मुकाबले राजस्थान में पेट्रोल का दाम करीब सत्रह रुपए ज्यादा है। एक्साइज ड्यूटी पंजाब पर भी समान रूप से कम हुई है।

वहीं श्रीगंगानगर के पेट्रोल डीलर सुमित शर्मा का कहना है कि उनके यहां अब भी कस्टमर्स की कमी बनी हुई है। बड़े वाहन तो राजस्थान के पेट्रोल पंप पर रुकते ही नहीं हैं। वे पंजाब से राजस्थान एंट्री के समय पेट्रोल भरवाते हैं और राजस्थान से बाहर निकलकर ही पेट्रोल फिर से भरवाते हैं। राजस्थान सरकार कुछ टैक्स कम करे तो कस्टमर्स और डीलर्स दोनों को फायदा होगा।

श्रीगंगानगर को सबसे ज्यादा नुकसान

पेट्रोल-डीजल के मामले में देश में सबसे ज्यादा दाम श्रीगंगानगर में हैं। यहां से पंजाब महज सात किलोमीटर दूर है। ऐसे में बस ट्रक जैसे बड़े वाहन तो लोकल डीलर्स से पेट्रोल लेते ही नहीं हैं। बल्कि छोटे वाहन भी पूरे माह की जरूरत के लिए पंजाब से पेट्रोल ले आते हैं।