पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

घोंसलों का पेड़:तिनका-तिनका जुटा बया ने 15 दिन में बनाया घर

श्रीगंगानगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भास्कर के फोटो जर्नलिस्ट ने 15 दिन में ये फोटो क्लिक किए...स्वेटर की तरह तैयार होता है यह घोंसला

पक्षी अपने अंडे और बच्चों को रखने के लिए घोंसला बनाते हैं। हर प्रजाति के पक्षी अलग-अलग प्रकार के घोंसले बनाते हैं। लेकिन सबसे अनोखा घोंसला होता है बया का। बया 15 दिन में अपना घोंसला तैयार करती है। इसलिए बया काे बुनकर पक्षी भी कहा जाता है। भास्कर फोटोजर्नलिस्ट राकेश वर्मा ने 15 दिन लगातार साधुवाली के पास 1 जैड क्षेत्र में जाकर बया के अाशियाना बनाते के हर रोज की तस्वीरें अपने कैमरे में कैद की। बया काे बुनकर पक्षी नाम से इसलिए जाना जाता है क्योंकि यह छोटे-छोटे तिनकों और पत्तियों से लालटेन की तरह लटकता हुआ घोंसला तैयार करता है और इसे वह स्वेटर की तरह बुनता है।

घोंसले में पानी की एक बूंद तक नहीं जाती

  • बारिश का मौसम शुरू होते ही बया घोंसला बनाना शुरू कर देता है। दूसरे पक्षियों से अलग इनका घोंसला टहनियाें के सहारे हवा में लटकता रहता है।
  • पक्षी विशेषज्ञ बताते हैं, नर बया घोंसला स्वेटर की तरह बुनता है, अगर मादा को पसंद नहीं आता तो वह दुबारा तैयार करता है।
  • बया घोंसला बनाने के लिए चोंच से केला, कांस की सींक को चीरते हैं। इनके टुकड़े करते हैं। फिर इनके टुकड़े के रेशों को, ताड़ के पत्तों या बबूल की टहनी से सिरे से जोड़ देते हैं। पेड़ की टहनी से लटकते हुए इस घोंसले में पानी की बूंद तक नहीं जा पाती है। -जैसा कि पक्षी विशेषज्ञ ने बताया
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें