पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

राहत:नप का लिंक चैनल तक पानी डालने का ट्रायल सफल, वर्षा जल भराव से मिलेगी निजात

श्रीगंगानगर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 8 से 10 कराेड़ की सड़कें टूटने से बचेंगी, ट्रायल के दौरान गुरुनानक बस्ती पंप हाउस की मोटरों के जरिए पाइप में पानी छोड़ा

बारिश के बाद सड़काें व गलियाें में पानी भरे रहने से परेशान शहरवासियाें के लिए शनिवार का दिन राहत लेकर आया। बरसाती पानी के लिए करीब 8 वर्ष पूर्व लिंक चैनल तक डाली गई पाइप लाइन से पानी निकासी का नगरपरिषद ने शुक्रवार को सफल ट्रायल किया। इस ट्रायल के दौरान गुरुनानक बस्ती पंप हाउस की मोटरों के जरिए ही पाइप में पानी छोड़ा गया।

अब नगरपरिषद की ओर से 75 हार्स पावर की एक नई माेटर लगाई जाएगी, ताकि पानी का उठाव बेहतर तरीके से हाे सके। डिग्गी से पानी उठाकर इस 28 इंची पाइप लाइन के जरिए पानी को साधुवाली के पास लिंक नहर में छोड़ा जाएगा। कांग्रेस नेता अशाेक चांडक का कहना है कि बीते दिनाें कलेक्टर के साथ माैका निरीक्षण किया गया था।

कलेक्टर काे शहर की समस्या से अवगत कराते हुए इसके निराकरण के लिए सहयाेग मांगा गया। इस पर कलेक्टर ने इस काम की सहमति दी साथ ही नगरपरिषद काे लिंक चैनल में पानी डालने की जल्द से जल्द व्यवस्था करने के लिए निर्देश दिए।

इसके तुरंत बाद बाद नगरपरिषद ने कई वर्षाें से अटकी बरसाती पानी निकासी की योजना को अमली जामा पहनाते हुए लिंक चैनल में पानी डालने का सफल परीक्षण किया। आधे शहर में पानी भरने की समस्या से स्थायी निजात मिल सकेगी। इस मौके पर नगरपरिषद आयुक्त प्रियंका बुडानिया, कांग्रेस नेता अशोक चांडक, स्वास्थ्य अधिकारी गौतम लाल, पूर्व पार्षद सुरेन्द्र स्वामी मौजूद रहे।

परिषद के पास अब तीन विकल्प : गड्ढे, खेत व लिंक चैनल

चांडक ने बताया कि पानी निकासी और शहरवासियाें काे बरसाती पानी भराव से हाेने वाली परेशानी काे यदि गंभीरता से लिया हाेता ताे यह काम आज से कई माह पहले ही हाे सकता था। लेकिन ना ताे इस संबंध में पाइप लाइन डालने वाली कंपनी ने गंभीरता से लिया और न ही यूआईटी के अधिकारियाें ने इस पर ध्यान दिया।

पार्षदों द्वारा 7 मार्च को हल्लाबोल कार्यक्रम किया गया। इसके बाद प्रशासन हरकत में आया। आरयूबी और करणीमार्ग की दीवार के पास सात-आठ फीट पाइप लाइन के टुकडे का मिलान किया गया। इसके अलावा गुरुनानक बस्ती पंप हाउस के पास 70 मीटर पाइप लाइन भी डाल दी गई।

बड़ी बात यह है कि अब नगरपरिषद के पास तीन विकल्प रहेंगे। पहला गड्ढाें काे तीन पाट में बांटकर पानी डाला जाए। दूसरा किसानाें काे पानी दिया जाए और तीसरा लिंक चैनल में पानी छाेड़ दिया जाए। गुरुनानक बस्ती पंप हाउस के पास पाइप मिलान, लीकेज दूर करने और वाल्व लगाने के लिए 5 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे।

जानिए क्या-क्या मिलेंगे लाभ

  • 8 से 10 कराेड़ की सड़कें टूटने से बचेंगी : नगरपरिषद, यूआईटी व पीडब्ल्यूडी की ओर से हर साल 8 से 10 कराेड़ रुपए सड़काें पर खर्च किए जाते हैं। बारिश के बाद कई कई दिन तक पानी सड़काें पर खड़ा रहता है, इससे सड़कें टूट जाती हैं। पानी निकासी हाेने के बाद सड़कें नहीं टूटेंगी, पेचवर्क का भी खर्च बचेगा। यह रुपए अन्य विकास कार्याें पर खर्च किया जा सकेगा।
  • पानी भराव की समस्या से स्थायी निजात मिलेगी: सिविल लाइन क्षेत्र, विनोबा बस्ती, मुखर्जी नगर, ब्लॉक एरिया, गुरुनानक बस्ती, इन्दिरा चौक, इन्द्रा कॉलोनी, सुखाडिया सर्किल और शहर के मध्य में पानी ठहराव की समस्या समाप्त हो जाएगी। नप यूआईटी को लिखित में अंडरटेकिंग देगी। लिंक चैनल के लिए डली पाइप लाइन को नुकसान होने पर परिषद ही ठीक करवाएगी।
  • दाे घंटे में पानी की निकासी हाे सकेगी: बरसात के दौरान ब्लॉक एरिया और विनोबा बस्ती में बरसात से पानी भराव के दौरान नगरपरिषद की ओर से 50 व 25 हार्सपावर की दो मोेटरें सात से आठ घंटे चलाकर पनी की निकासी की जाती है। किसान विरोध करते हैं। अब दो घंटे माेटरें चलने पर ही आधे शहर से बरसाती पानी की निकासी लिंक चैनल से हो जाएगी।
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें