पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जब्तशुदा वाहनाें की पार्किंग:रुपये 5 कराेड़ के वाहन बने ‘कबाड़’, थानाें में सड़ रहे जब्तशुदा वाहन

श्रीगंगानगर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 1989 में लालगढ़ जाटान थाने का जब्त ट्रक सदर थाने में हाे गया कबाड़

जिले के 28 थाने वर्षाें से जब्तशुदा वाहनाें की पार्किंग के स्थान बनकर रह गए हैं। इन थानाें में 15 साै से अधिक वाहन विभिन्न मामलाें में जब्त किए हुए हैं। इनके निस्तारण की राज्य स्तर पर काेई स्पष्ट पाॅलिसी नहीं हाेने से जिले के कई थानों की तो हालत यह हो गई है कि वे कबाड़ थाने बनकर रह गए हैं। कुछ थाने ताे ऐसे हैं, जहां जब्त वाहनाें काे रखने तक की जगह नहीं है। वहां जब्त वाहनाें काे एक दूसरे के ऊपर लादकर रखा

हुआ है। माेटे अनुमान के अनुसार दुपहिया से लेकर बड़े मल्टी एक्सल वाहनाें की नीलामी की जाए ताे 5 कराेड़ से अधिक का राजस्व पुलिस काे प्राप्त हाे सकता है। इतना ही नहीं इन वाहनाें के उठा लिए जाने से जगह खाली हाेगी, जिसका अन्य जरूरत के हिसाब से काम लिया जा सकेगा। जब्त वाहनाें में 1270 दुपहिया, 12 तिपहिया,224 चाैपहिया और 26 मल्टी एक्सल वाहन हैं। इनमें दुपहिया की औसत 20 हजार, तिपहिया की

50 हजार,चाैपहिया की एक लाख और मल्टी एक्सल वाहनाें की औसत कीमत दाे लाख रुपए आंकी गई है। सच्चाई यह है कि अधिकतर वाहनाें की कंडिशन के अनुसार कीमत इससे अधिक भी मिल सकती है। सदर श्रीगंगानगर थाना परिसर में पुलिस के कई अधिकारी और कर्मचारी सरकारी आवास में रहते हैं। लेकिन यहां जब्तशुदा 135 दुपहिया, दाे तिपहिया, 23 चाैपहिया और 9 मल्टी एक्सल वाहनाें से पूरा परिसर अटा

पड़ा है। यहां तक कि सरकारी आवास का रास्ता तक बंद हाेने के कगार पर पहुंचा हुआ है। एक कर्मचारी ने बताया कि उनकी पत्नी एक रात बीमार पड़ गई ताे उसे अस्पताल ले जाने के लिए कार थाने से बाहर निकलने तक की जगह नहीं मिली। बड़ी मशक्कत से अस्पताल पहुंचे।

1989 में लालगढ़ जाटान थाने का जब्त ट्रक सदर थाने में हाे गया कबाड़

लालगढ़ जाटान पुलिस द्वारा 1989 अाैर 1993 में मादक पदार्थ की तस्करी के अाराेप में जब्त किए ट्रकाें काे सदर श्रीगंगानगर थाने में खड़ा किया हुअा है। इनका निस्तारण अाज तक नहीं हुअा है। सादुलशहर थाने में 1994 में हत्या के मामले में जब्तशुदा ट्रक थाने के सामने 26 वर्षाें से खड़े-खड़े कबाड़ हाे गया है। ये इस जिले के सबसे पुराने वाहन हैं जिनका काेई मालिक नहीं है। काेर्ट से भी मामले िनपटने के बावजूद इन ट्रकाें का निस्तारण अटका हुअा है।

पुलिस जब्त करती है वाहन, समस्या- नीलामी का समय तय नही

1. 38 पुलिस एक्ट के तहत लावारिस मिलने वाले वाहनाें काे पुलिस जब्त कर थाने ले जाती है। इनकी नीलामी का प्रावधान है। 2. 102 सीआरपीसी के तहत ऐसे वाहनाें काे सीज किया जाता है जिनसे किसी आपराधिक वारदात की आशंका हाेती है। 3. एनडीपीएस एक्ट अर्थात मादक पदार्थ की तस्करी के मामलाें मेंं वाहनाें काे मुकदमे के निस्तारण से पहले नीलाम नहीं किया जा सकता। 4. चाेरी, सड़क हादसा, अपराध के मामलाें में पुलिस द्वारा बरामद अथवा सीज किए गए वाहनाें का निस्तारण भी बड़ी चुनाैती होता है।​​​​​​​

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें