LIVE जिले में 73 प्रतिशत पोलिंग:शाम को वोटिंग में आई तेजी, पोलिंग बूथों के सामने लगी कतारें

श्रीगंगानगर5 महीने पहले
श्रीगंगानगर जिले में जिला परिषद और पंचायत समिति चुनाव केसैकिंड फेज के इलेक्शन में वोटिंग करने पहुंचे वोटर।

जिला परिषद और पंचायत समिति चुनाव के सैकिंड फेज में बुधवार को 73 प्रतिशत पोलिंग हुई। सैकिंड फेज में श्रीकरणपुर, सादुलशहर और श्रीगंगानगर पंचायत समिति में चुनाव हुआ है। शुरुआत में वोटिंग की स्पीड कम रही लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही इसमें तेजी आई। सुबह दस बजे तक तेरह प्रतिशत वोटर्स ने वोट डाले वहीं दोपहर बारह बजे तक 29 प्रतिशत वोटर्स पोलिंग बूथ तक पहुंचे। सुबह दस बजे तक श्रीगंगानगर में तेरह प्रतिशत, श्रीकरणपुर में बारह और सादुलशहर में पंद्रह प्रतिशत पोलिंग हुई वहीं दोपहर बारह बजे तक श्रीगंगानगर में 28 प्रतिशत, श्रीकरणपुर में 27 और सादुलशहर में 31 प्रतिशत वोटर्स ने वोट डाले। दोपहर बारह बजे तक 102186 वोटर्स वोट डाल चुके थे। श्रीगंगानगर में 51829, श्रीकरणपुर में 22268 और सादुलशहर में 28089 वोटर्स ने वोट डाले। दोपहर बाद तीन बजे तक 55 प्रतिशत वोटरों ने वोट दे दिए थे। श्रीगंगानगर में 54 प्रतिशत पोलिंग हुई वहीं श्रीकरणपुर में 53 और सादुलशहर में 58 प्रतिशत वोटर्स वोट डाल चुके थे। दोपहर तक 195676 वोटर्स ने वोटिंग की थी। इसमें श्रीगंगानगर में 97532, श्रीकरणपुर में 44433, सादुलशहर में 53711 वोटर्स ने वोटिंग की। शाम साढ़े पांच बजे तक श्रीगंगानगर में 71 प्रतिशत, श्रीकरणपुर में 71 प्रतिशत तथा सादुलशहर में 78 प्रतिशत ने वोटिंग में हिस्सा लिया। तीनों पंचायत समितियों में 259473 लोगों ने वोट किया। इसमें श्रीगंगानगर में 128977, श्रीकरणपुर में 59194 तथा सादुलशहर में 71302 लोगों ने वोट किया।

पोलिंग बूथ पर तैनात रही पुलिस
पंचायत चुनाव के लिए पोलिंग बूथों पर पुलिस बल तैनात किया गया। श्रीगंगानगर पंचायत समिति की ग्राम पंचायत पांच ई में सुबह से मतदाता पहुंचने लगे। मतदान केंद्रों के दो सौ मीटर की दूरी पर राजनीतिक दलों ने कैंप लगा रखे थे। यहां पहुंचने वाले वोटर्स को कैंडिडेट्स के सपोर्टर अपने कैंडिडेट के पक्ष में वोटिंग करने के लिए कह रहे थे।

कोविड नियमों की हो रही पालना
प्रत्येक सेंटर पर कोविड नियमों की पालना की जा रही थी। सेंटर के बाहर सभी वोटर्स की जांच की जा रही थी। उनका टैंप्रेचर आदि चैक करने के बाद उन्हें पोलिंग बूथ में प्रवेश करवाया जा रहा था। राजनीतिक दलों के एजेंट्स भी पोलिंग बूथों पर हर वोट पर नजर रखे हुए थे वहीं ग्रामीण इलाकों में पॉलिटिकल पार्टियों के लोग वोट की जुगत भिड़ाते नजर आए।

खबर लगातार अपडेट हो रही है...

खबरें और भी हैं...