पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लोकपरिवहन बस ऑपरेटर सांकेतिक हड़ताल पर:लोक परिवहन बसों के पहिए  थमे, रोडवेज पर बढ़ा भार, बस स्टैंड  पर लगी यात्रियों की भीड़

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर  के  बस स्टैंड पर गुरुवार को पहुंचे यात्री। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर के बस स्टैंड पर गुरुवार को पहुंचे यात्री।

कोरोना संकट के चलते बसों का संचालन नहीं होने से परेशानी झेल रहे लोक परिवहन बस ऑपरेटरों ने गुरुवार को एक दिन की सांकेतिक हड़ताल की। इससे रोडवेज बसों पर अतिरिक्त भार पड़ा। जिला मुख्यालय से अतिरिक्त बसों का संचालन किया गया जिससे कि यात्रियों को ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। शहर के केंद्रीय बस स्टैंड पर गुरुवार को सुबह से यात्रियों के समूह नजर आने लगे।

ग्रामीण इलाकों में परेशानी
जिले के कई इलाके ऐसे हैं जहां रोडवेज की बस सेवा कम है तथा लोक परिवहन का बड़ा सहारा है। ऐसे में गुरुवार को इन इलाकों में ज्यादा परेशानी आई। यहां यात्रियों को बसों का इंतजार करना पड़ा।

रोडवेज बसों के बराबर नेटवर्क
जिले में बसों के नेटवर्क की बात करें तो रोडवेज के पास इस समय 104 बसें हैं वहीं लोक परिवहन की भी जिले में 103 बसें चल रही हैं। वहीं हनुमानगढ़ जिले में लोक परिवहन की 62 बसों का संचालन किया जा रहा है।

हमारी सेवाएं पूरी तरह ठप
लोकपरिवहन बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन के प्रदेश प्रभारी राजेंद्र शर्मा ' जिंदी' ने बताया कि हमारी सेवाएं पूरी तरह ठप है। हमारी मांग कोरोना काल में बसें संचालित नहीं होने तथा पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने के कारण टैक्स माफी करने की है। सरकार ने हमारी मांग नहीं मानी है। इसी कारण गुरुवार को एक दिन की सांकेतिक हड़ताल की गई है। लोक परिवहन बसों में जिले में प्रतिदिन करीब 22 हजार से 23 हजार यात्री यात्रा करते हैं।

हमनें चलाई अतिरिक्त बसें
रोडवेज के श्रीगंगानगर डिपो के चीफ मैनेजर अवधेश कुमार बताते हैं कि हमनें लोक परिवहन की हड़ताल को देखते हुए अतिरिक्त बसें चलाई हैं। उपलब्ध बसों को जरूरत के अनुसार अनूपगढ़, सूरतगढ़ और बीकानेर रूट पर चलाया गया है। दिन में आवश्यकता को रखते हुए इन बसों के रूट बदलकर इन्हें उपयोग कर लिया जाएगा।

फैक्ट फाइल
श्रीगंगानगर में लोकपरिवहन बसें-103
श्रीगंगानगर में रोडवेज बसें-104
रोडवेज के पास रिजर्व बसें-04
लोकपरिवहन का दैनिक यात्री भार- 22 हजार से 23 हजार यात्री