पोलिंग पार्टियों के पहले बैच को दी ट्रेनिंग:कहा वोटर्स की पहचान में रखें सावधानी, समस्या हो तो सैक्टर मजिस्ट्रेट या जोनल मजिस्ट्रेट को बताएं

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर  में पोलिंग पार्टियों की ट्रेनिंग में शामिल लोग। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर में पोलिंग पार्टियों की ट्रेनिंग में शामिल लोग।

जिला परिषद और पंचायत समिति चुनाव के लिए बुधवार को पोलिंग पार्टियों के पहले फेज के लोगों को ट्रेनिंग दी गई। पोलिंग पार्टी में शामिल सदस्यों को वोटर्स की पहचान में सावधानी बरतने की सलाह दी गई। उन्हें बताया गया कि किसी भी वोटर के पोलिंग बूथ में आने के दौरान कोविड नियमों की पालना आवश्यक रूप से होनी चाहिए। फर्स्ट फेज की यह ट्रेनिंग शहर के सेठ जीएल बिहाणी एसडी कॉलेज में हुई।

पहचान में परेशानी हो तो मास्क हटवाएं
पोलिंग पार्टियों को बताया गया कि वोटर्स की पहचान में किसी तरह की समस्या हो तो मास्क हटवाया जा सकता है। इसके अलावा पोलिंग पार्टियां ध्यान रखें कि किसी भी स्थिति में पोलिंग पार्टी के मैंबर अपने किसी पहचान वाले अथवा परिचित के घर जाकर नहीं ठहरेंगे। उन्हें सभी व्यवस्थाएं पोलिंग बूथ पर ही दी गई है।

कलेक्टर बोले, चुनाव महत्वपूर्ण कार्य
जिला कलेक्टर जाकिर हुसैन ने कहा कि चुनाव एक महत्वपूर्ण कार्य है। आयोग के निर्देशों की अक्षरशः पालना सुनिश्चित की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि लोकसभा व विधानसभा चुनाव से इन चुनावों की व्यवस्थाएं अलग होती है। उन्होंने कहा कि मतदान का समय प्रातः 7.30 बजे से सायं 5.30 बजे तक है। मतदान दलों को समय सीमा का पूरा ध्यान रखना है। उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्र पर किसी प्रकार की कोई बात होने पर सैक्टर मजिस्ट्रेट व जोनल मजिस्ट्रेट को जानकारी दें।

एसपी आनन्द शर्मा ने कहा कि पंचायती राज चुनाव के दौरान पोलिंग स्टेशन पर सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए है। मतदान केन्द्रों पर महिला सिपाही भी उपस्थित रहेगी। संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों पर अतिरिक्त जाब्ता रहेगा तथा मोबाइल पार्टियां लगातार गश्त करेगी। मास्टर ट्रेनर सुरेन्द्र कुमार सोनी, नवनीत कुमार, अशोक शर्मा ने प्रशिक्षण दिया। ईवीएम की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग भी दी गई।

खबरें और भी हैं...