लाेकार्पण कार्यक्रम:संगरिया में काेर्ट भवन का लाेकार्पण, हाईकाेर्ट जस्टिस बाेले-अदालतों में सुविधाओं की पूर्ति के करेंगे प्रयास

संगरिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीजे ने 10 साल से ज्यादा पुराने मामलाें के राजीनामा से निस्तारण में मांगा सहयाेग

पीड़ित-शोषित तथा न्याय से वंचितों को सुलभ न्याय दिलाने के लिए बार एवं बैंच को संवेदनशीलता से कार्य करना चाहिए। न्यायालयों में मूलभूत सुविधाओं व आवश्यकताओं की पूर्ति में किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी। यह बात न्यायाधिपति मनोज गर्ग ने अधिवक्ताओं को कही।

मौका था नवसृजित सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय के भवन लाेकार्पण का। न्यायाधिपति मनोज गर्ग व जिला न्यायधीश संजीव मागो ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। बार एसोसिएशन ने राजस्थानी पगड़ी पहनाकर उनका अभिनंदन किया।

जिला न्यायधीश संजीव मागो ने हनुमानगढ़ जिले में लोक अदालत के माध्यम से राजीनामा से सर्वाधिक प्रकरण के निस्तारण में सहयोग देने के लिए सभी अधिवक्ताओं की सराहना की और 10 वर्ष से अधिक पुराने प्रकरणों के शीघ्र निस्तारण के लिए अधिवक्ताओं से सहयोग का आह्वान किया। वरिष्ठ अधिवक्ता छोटूराम बिश्नोई व हेमराज गोदारा ने संबोधित किया।

अध्यक्ष नरेश मंडा ने संगरिया में न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय स्वीकृत करने पर धन्यवाद ज्ञापित किया। बार एसोसिएशन ने एडीजे नरेंद्रसिंह राठौड़, हनुमानगढ़ सीजेएम धनपत माली, एसीजेएम वीनू नागपाल, नवनियुक्त मजिस्ट्रेट परनीतकौर को सम्मान प्रतीक भेंट किए।

हनुमानगढ़ बार अध्यक्ष मनजिंदर लेघा, सचिव आत्माराम भादू, एसडीएम रमेश देव, ईओ पुरुषोत्तम जैन, डीएसपी दिनेश राजौरा, सीआई विजय मीणा, तहसीलदार विवेक चौधरी, टैक्स बार अध्यक्ष ओमप्रकाश अग्रवाल, एडीपी ओमप्रकाश आर्य, एपीपी कुलदीपसिंह सियाग, रवि घिंटाला, मीनाक्षी विढासरा, लोक अभियोजक उग्रसेन नैण, अपर लोक अभियोजक अनिल चोयल, सचिव अनिल शर्मा, बार कोषाध्यक्ष संतोष सोलंकी, परमजीतकौर, परविंदर सिंह, हरमीतसिंह सहित अधिवक्ता मौजूद रहे।

भादरा| बुधवार को आमजन को जागरुक करने के लिए सीएचसी में हेल्प डेस्क लगाई गई। विधिक जागरुकता शिविरों के माध्यम से पीएलवी रेशमा ने बाल विवाह के दुष्परिणाम, पीड़ित प्रतिकर स्कीम, राष्ट्रीय लोक अदालत, स्थाई लोक अदालत तथा बालिकाओं के लिए राज्य सरकार द्वारा संचालित बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, सुकन्या समृद्धि योजना, माननीय व रालसा द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

पीलीबंगा| बाल विवाह निषेध अधिनियम पर वर्चुअल जागरुकता शिविर का आयोजन बुधवार काे न्यायिक मजिस्ट्रेट विजय कुमार की अध्यक्षता में हुअा। उपखंड अधिकारी रंजीत कुमार, बीसीएमओ डॉ. मनोज अरोड़ा, समिति सचिव अरविंद सोनी, अधिवक्ता मनीष आहूजा, महावीर अरोड़ा, पीएलवी हरबंसलाल, मायादेवी, भीमसेन पटीर, तेजपाल पंवार ने बाल विवाह के नुकसान से अवगत करवाया। बाल विवाह राेकने की शपथ दिलाई गई।

खबरें और भी हैं...