सुविधा:22 बेड के कोरोना वार्ड‎ को भी बनाया न्यू मेडिकल वार्ड, सीएमएचओ ने 12‎ नर्सेज के आदेश जारी किए

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक। सआदत अस्पताल में मरीजों के दबाव को देखते हुए कोरोना वार्ड‎

को मेडिकल वार्ड में तब्दील किया गया है। टोंक। शहर के जनाना‎

अस्पताल में स्थित शिशु वार्ड में भर्ती बच्चे।‎ - Dainik Bhaskar
टोंक। सआदत अस्पताल में मरीजों के दबाव को देखते हुए कोरोना वार्ड‎ को मेडिकल वार्ड में तब्दील किया गया है। टोंक। शहर के जनाना‎ अस्पताल में स्थित शिशु वार्ड में भर्ती बच्चे।‎
  • सआदत अस्पताल में ओपीडी का आंकड़ा 2 हजार से बढ़कर 2 हजार 300 तक पहुंचा‎

सआदत अस्पताल में मरीजों का आंकड़ा घटने के स्थान पर बढ़ रहा है। पिछले सप्ताह तक जहां रोजाना का औसतन आंकड़ा 2000 रहा करता था, वह अब बढ़कर औसतन 2300 जा पहुंचा है। इसे कलेक्टर चिन्मयी गोपाल ने गंभीरता से लेते हुए पीएमओ को एक ओर मेडिकल वार्ड खोलने के निदेश दिए गए। इस पर अस्पताल प्रशासन की ओर से मेडिकल वार्ड के द्वितीय तल पर बने 22 बेड के कोरोना वार्ड को फिलहाल अतिरिक्त मेडिकल वार्ड में तब्दील किया है। इसके साथ ही सीएमएचओ डॉ. अशोक कुमार यादव ने 12 नर्सेज के आदेश जारी किए, इनमें से शनिवार को एक जने ज्वॉइनिंग भी कर लिया।

पीएमओ डॉ. बीएल मीणा ने बताया कि 10 अतिरिक्त हैल्पर की कलेक्टर से अनुमति मांगी गई है। इन दिनों लू व गर्मी के कारण लोग उल्टी, दस्त व पेटदर्द के शिकार हो रहे है। ये मरीज सभी आयुवर्ग के शामिल है। जिला अस्पताल की ओपीडी पिछले सप्ताह भर से 2 हजार के करीब चल रही है। जो इन दिनों बढ़कर रोजाना 2300 से अधिक रहने लगी है।

मरीजों को पलंग, संक्रमण से राहत

अस्पताल में अतिरिक्त मेडिकल वार्ड संचालित होने से अधिकतर मरीजों को पलंग की सुविधा मिल सकेगी। मेडिकल मरीजों के लिए अब कुल 72 पलंग हो जाएंगे। इसी प्रकार शिशु वार्ड में भी अब तक एक ही पलंग पर कहीं दो तो कहीं तीन बालकों को भर्ती कर उपचार किया जा रहा था। परिजनाें का मानना है कि इससे बच्चें संक्रमण की चपेट में आने का खतरा था। अब नया वार्ड खोले जाने से बालकों व अभिभावकों को राहत मिलेगी। शिशुओं के लिए अब 40 पलंग हो गए हैं।

खबरें और भी हैं...