टीचर की कमी से परेशान स्टूडेंट बैठे धरने पर:प्रिंसिपल, 3 लेक्चरर सहित 9 पद खाली, समझाकर उठाया बच्चों को

टोंक3 महीने पहले
शिक्षकों की कमी से परेशान होकर स्कूल के बाहर गेट पर धरने पर बैठे विद्यार्थी।

गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल घाड़ में टीचर्स की कमी के चलते बुधवार को स्टूडेंट आंदोलन पर उतर गए। छात्र-छात्राओं ने सुबह स्कूल का गेट बंद कर नारेबाजी की और धरने पर बैठ गए। बाद में स्कूल स्टाफ और मौके पर पहुंची घाड़ थाना पुलिस ने समझाकर करीब 20-25 मिनट बाद बच्चों को धरने से उठाया।

इस स्कूल में लंबे से शिक्षकों समेत स्टाफ की कमी बनी हुई है। इसले चलते पढ़ाई प्रभावित हो रही है। स्कूल में शिक्षकों व स्टाफ के 24 पद है। इनमें से प्रिंसिपल समेत 9 पद शिक्षकों आदि स्टाफ के खाली हैं। इनमें से 4 शिक्षकों का तबादला तो करीब एक से डेढ़ माह में ही हो गए। लगातार खाली होते पदों के चलते सुबह करीब दस बजे छात्र-छात्राओं में आक्रोश पैदा हो गया और वे सुबह स्कूल के अंदर जाने के बजाय बाहर ही रुक गए। विरोध जताते हुए गेट बंद कर धरने पर बैठ गए। इस दौरान जमकर नारेबाजी की। इस दौरान स्कूल स्टाफ ने भी बच्चों को समझाया। कुछ देर बाद ही घाड़ पुलिस भी मौके पर पहुंची और समझा कर गेट खुलवाया। फिर बच्चों को स्कूल भेजा गया।

स्कूल में ये पद खाली
करीब डेढ़ महीने पहले प्रिंसिपल राजेंद्र शास्त्री का तबादला हो गया। उसके अलावा इस स्कूल में भूगोल, फिजिक्स, बायोजोली, वरिष्ठ अध्यापक में गणित और लाइब्रेरियन के पद खाली हैं। वहीं, थर्ड ग्रेड के लेवल फर्स्ट में दो पद खाली हैं। एक पद लैब असिस्टेंड खाली है।

कुछ देर बच्चों ने गेट बंद कर दिया था
घाड़ सीनियर सेकेंडरी स्कूल के कार्यवाहक प्रिंसिपल किशन लाल कुम्हार ने बताया कि 9 पद खाली हैं। इनमें से एक लैब असिस्टेंट तो गुरुवार को जॉइन कर लेंगे। सभी खाली पदों को भरने की मांग को लेकर 20-25 मिनट बच्चे बाहर बैठ गए थे। उन्हे समझा दिया है। अब विद्या संबल योजना से कुछ दिन में ये पद भरे जाएंगे।

कंटेंट: अविनाश मीणा, घाड़