एनिकट में डूबने से चरवाहे की मौत:भैंस को निकालते समय हादसा, SDRF टीम ने निकाला शव

टोंक4 महीने पहले
टोंक के टोडारायसिंह थाना क्षेत्र के देवपुरा गांव में एनीकट में डूबने से चरवाहे की मौत हो गई।

टोंक के टोडारायसिंह थाना क्षेत्र के देवपुरा गांव में एनीकट में डूबने से चरवाहे की मौत हो गई। ग्रामीणों ने अपने स्तर से चरवाहे का शव निकालने का प्रयास किया, लेकिन करीब 1 घंटे तक भी चरवाहे का कहीं सुराग नहीं लगा। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची एसडीआरएफ की टीम ने करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद शनिवार देर रात शव बाहर निकाला।

टोडारायसिंह थाना प्रभारी दातार सिंह ने बताया कि हीरालाल (57) पुत्र छोटू लाल गुर्जर शनिवार को मवेशियों को चराने के लिए खेत की ओर गया था। इस दौरान उसकी भैंस गांव के पास एनिकट के पानी में चली गई। उसे निकालने के लिए वह भी पानी में उतर गया और गहरे पानी में चला गया। सांसे फूलने पर वह चिल्लाने लगा। उसकी आवाज पास से गुजर रही महिला ने सुनी तो उसने गांव में जाकर लोगों को इस बात की जानकारी दी। जिसके बाद ग्रामीण मौके पर पहुंचे और चरवाहे की तलाश शुरू की। करीब एक घंटे तक भी वह नहीं मिला। जिसके बाद बावड़ी के सरपंच गोकुल धाकड़ ने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी।

सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। जहां हालात को देखकर पुलिस ने SDRF की टीम को मौके पर बुलाया। शाम करीब 7 बजे SDRF की टीम प्रभारी गोमाराम के नेतृत्व में मौके पर पहुंची और करीब 2 घंटे की मशक्क्त के बाद देर रात शव को एनिकट से बाहर निकाला। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है, और मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।