1992 के दंगों का फरार आरोपी गिरफ्तार:जयपुर में नाम बदल कर परिवार के साथ काट रहा था फरारी

टोंकएक महीने पहले
मालपुरा में 1992 में हुए सांप्रदायिक दंगों के फरार आरोपी अब्दुल मन्नान को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
मालपुरा में 1992 में हुए सांप्रदायिक दंगों के फरार आरोपी अब्दुल मन्नान को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

मालपुरा में 1992 में हुए सांप्रदायिक दंगों में कोर्ट की ओर से आजीवन कारावास की सजा सुनाते समय फरार आरोपी को पुलिस ने आज अरेस्ट कर लिया। पुलिस ने आरोपी अब्दुल मन्नान को कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

मालपुरा एएसपी राकेश कुमार बैरवा ने बताया कि टोडारायसिंह रोड मालपुरा निवासी अब्दुल मन्नान, उसके पिता जब्बार सैय्यद और एक अन्य अफजल 1992 में मालपुरा में हुए दंगों में मारपीट, हत्या आदि के मामलों में शामिल थे। 7 सितंबर 1997 को बेल मिलने पर जेल से बाहर आ गए थे लेकिन बेल की अवधि खत्म होने के बाद तीनों वापस कोर्ट मे हाजिर नहीं हुए। कोर्ट ने साल 1999 में तीनों आरोपियों को फरार घोषित करते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

मालपुरा थाना पुलिस तभी से तीनों आरोपियों की तलाश कर रही थी। आईजी अजमेर ने आरोपियों की गिरफ्तारी पर 10 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था। पिछले कई दिनों से पुलिस ऑपरेशन शिकंजा के तहत इनकी तेजी से तलाश कर रही थी। हाल ही में पुलिस को अहम सुराग लगे कि अब्दुल मन्नान परिवार के साथ नाम, पते बदल कर जयपुर के जयसिंहपुरा खोर में रह रहा है। इसके बाद एसपी मनीष त्रिपाठी के आदेश पर कॉन्स्टेबल गंगदेव और कपिल को इनकी तलाश में जयपुर भेजा गया।

पुलिस ने देर रात अब्दुल मन्नान को अरेस्ट कर लिया। आज सुबह उसे कोर्ट में पेश किया गया। जहां से जेल भेज दिया गया।