निरीक्षण:प्रशासनिक अधिकारियों ने शहर में सीवरेज-जल वितरण व सड़क निर्माण कार्य का किया निरीक्षण

टोंक21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोंकl शहर में निरीक्षण के दौरान कार्यों की जांच करते प्रशासनिक अधिकारी  । - Dainik Bhaskar
टोंकl शहर में निरीक्षण के दौरान कार्यों की जांच करते प्रशासनिक अधिकारी ।
  • आरयूआईडीपी अधिकारियों को निश्चित टाइम लाइन में काम करने के निर्देश दिए

शहर में चल रहे सीवरेज- पानी की पाइन लाइन डालने का कार्य जहां लोगों के लिए सिरदर्द बना हुआ है। तो दूसरी ओर संबंधित विभाग व एजेंसी की ओर से प्रशासनिक आदेशों के बावजूद कार्यो में शिथिलता बरतने से विभिन्न वार्डो में लोगों दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। शनिवार को एडीएम परशुराम धानका, एसडीएम गिरधर सहित अन्य अधिकारियों ने आरयूआईडीपी के तहत चल रहे सीवरेज व जल वितरण लाइनों के कार्य की प्रगति, सड़कों की स्थिति का निरीक्षण किया।

निर्माण कार्यो को जांचने प्रशासनिक अमले को स्थानीय लोगों ने शिकायतों की झड़ी लगा दी। वार्ड नंबर 29 से पार्षद अख्तर खान ने अधिकारियों से शिकायत करते हुए कहा कि सीवरेज कार्य करने वाली ठेका फर्म और आरयूआईडीपी के अधिकारी सुनवाई नही करते और शिकायतों के बावजूद लापरवाही बर रहे है। विदित रहे शहर में जगह-जगह सड़को की खुदाई के बाद आलम यह है कि स्थानीय लोग ही नही वार्ड पार्षद प्रशासन से लगातार शिकायत कर रहे कि सड़को के गड्ढो की वजह से गिरकर लोग चोटिल हो रहे है तो दूसरी ओर उड़ती धूल लोगों को बीमार कर रही है।

इसको देखते हुए एडीएम व एसडीएम ने आरयूआईडीपी व संबंधित फर्म के अधिकारियों और कर्मचारियो को निश्चित टाइम लाइन में काम करने के निर्देश दिए। शहर की गोल मस्जिद, बैरवाओं का पुल, रजबन, गाड़ियों का अड्डा, बर्फ फैक्ट्री की गली, नायब साहब की नाल, रचके के बाबा वाली सड़क, सिटी डिस्पेन्सरी पर (हाउसिंग बोर्ड) का निरीक्षण किया। उपखण्ड अधिकारी ने बैरवाओं का पुल से गुजर रहे नाले में एकत्रित मलबे को उठाने एवं तुलसी गार्डन के पास स्थित नाले में मिट्टी भराव के कारण गंदा पानी बाहर आने पर नाले की सफाई कराने लिए नगर परिषद के कार्यवाहक आयुक्त सुरेश चंद जैन को निर्देशित किया। औपचारिक नजर आया निरीक्षण : निरीक्षण करने आए प्रशासनिक अमले में शामिल एडीएम, एसडीएम, तहसीलदार सहित अन्य अफसर भी निरीक्षण के नाम सिर्फ खानापूर्ति करते नज़र आए, अधिकारियों से लोगो ने शिकायत की और पूर्व में की शिकायतों के बारे में भी बताते हुए संबंधित पर क्या कार्यवाही उसका जवाब देने के बजाय अधिकारी भविष्य में कार्य का दुरुस्त करवाए जाने का आश्वासन देकर निकल गए। एडीएम परशुराम धानका ने कहा कि ठेका फर्म को डेडलाइन दी गई है ओर डेडलाइन पूरी होने पर काम मे सुधार नही हुआ तो एक्शन लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...