1 साल में 13 हजार मरीजों का नि:शुल्क इलाज:मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का मिला लाभ

टोंकएक महीने पहले
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में एक साल में करीब 13 हजार मरीजों का नि:शुल्क इलाज किया गया है। - Dainik Bhaskar
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में एक साल में करीब 13 हजार मरीजों का नि:शुल्क इलाज किया गया है।

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना गरीब और असहाय लोगों के लिए काफी मददगार साबित हो रही है। टोंक जिले में योजना के तहत एक साल में करीब 13 हजार मरीजों का नि:शुल्क इलाज किया गया है। इस पर राज्य सरकार के करीब 10 करोड़ 40 लाख 30 हजार रुपए खर्च हुए हैं।

जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल ने बताया कि 1 मई 2021 को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की गई थी। इस योजना से जिले के हजारों मरीजो की गंभीर बीमारियों का सरकारी और निजी अस्पतालों में कैशलेस एवं नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है। इस साल से चिरंजीवी योजना के अंतर्गत प्रति परिवार सालाना 5 लाख रूपए की लिमिट को बढ़ाकर 10 लाख रुपए कर दिया गया है। योजना का दायरा और व्यापक करते हुए इस साल से कॉक्लेयर प्लांट, बोन मैरो ट्रांसप्लांट, आर्गन ट्रांसप्लांट, ब्लड प्लेटलेट्स प्लाज्मा ट्रांसफ्यूजन, लिम्ब प्रोस्थेसिस का भी निःशुल्क इलाज उपलब्ध होगा।

कलेक्टर ने बताया कि 1 मई 2021 से 10 मई 2022 तक 12 हजार 921 मरीजों का नि:शुल्क इलाज किया जा चुका है। इस इलाज पर राज्य सरकार की ओर से 10 करोड़ 40 लाख 30 हजार से ज्यादा का क्लेम मंजूर किया गया है। उन्होंने बताया कि इस योजना से प्रदेश का कोई भी परिवार जुड़ सकता है। योजना का लाभ लेने के लिए उम्र, आयु, वर्ग, आमदनी की बाध्यता नहीं है। लाभार्थी परिवारों के लिए बीमा प्रीमियम राशि का भुगतान राज्य सरकार करती है। अन्य सभी परिवार वार्षिक बीमा प्रीमियम की आधी राशि और 850 रूपए देकर लाभ ले सकते हैं। ई-मित्र पर पंजीकरण निःशुल्क है।

कलेक्टर ने बताया कि आवेदन शुल्क, प्रीमियम जमा शुल्क एवं पॉलिसी डॉक्यूमेंट प्रिंट का खर्च सरकार वहन करती है। प्रदेश के असहाय और निराश्रित लोग जो योजना के पात्र लाभार्थी तो है, लेकिन चिरंजीवी योजना में रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है और जिन्हें इलाज की आवश्यकता है।उन्हें कलेक्टर की अनुशंसा पर निजी अस्पतालों में भी नि:शुल्क इलाज का लाभ मिल पाएगा। मरीज के भर्ती होने से 5 दिन पहले और डिस्चार्ज के 15 दिन का चिकित्सा खर्च पैकेज में शामिल किया गया है।

खबरें और भी हैं...