• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Tonk
  • Couple Reunited After 6 Years With Mutual Understanding, Husband And Wife Were Living Separately Due To Mutual Dispute

राष्ट्रीय लोक अदालत:आपसी समझाइश से 6 साल बाद फिर एक हुए दंपती, आपसी विवाद के चलते अलग रह रहे थे पति-पत्नि

टोंक9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक | राष्ट्रीय लोक अदालत में प्रकरणों का निस्तारण किया । - Dainik Bhaskar
टोंक | राष्ट्रीय लोक अदालत में प्रकरणों का निस्तारण किया ।
  • राष्ट्रीय लोक अदालत में आपसी समझाइश कर 31 हजार 777 प्रकरणों का निस्तारण कर 9 करोड़ 15 लाख 51 हजार 932 रूपए के अवार्ड जारी किए गए

जिले के विभिन्न न्यायालयों में शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में करीब 6 साल से अलग रह रहे निवाई निवासी पति-पत्नि का लोक अदालत में समझाईश कर मामला सुलाझाया । न्यायिक अधिकारी के समक्ष दोनों ने एक-दूसरे को माला पहनाकर फिर से एक साथ रहने का वादा किया। जिले के विभिन्न न्यायालयों में जिला विधिक प्राधिकरण की ओर से आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में आपसी समझाईश के जरिए 31 हजार 777 प्रकरणों का निस्तारण कर 9 करोड़ 15 लाख 51 हजार 932 रुपए के अवार्ड जारी किया गया।

दरअसल प्राधिकरण अध्यक्ष (जिला व सेशन न्यायाधीश) अजय शर्मा के निर्देशन व मार्गदर्शन में जिला मुख्यालय व जिले की सभी तहसीलों में स्थित न्यायिक व राजस्व न्यायालयों सहित जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग व किशोर न्याय बोर्ड में लम्बित व विवादपूर्व श्रेणी के मुकदमों के निस्तारण को लेकर राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया था। प्राधिकरण सचिव (अपर जिला सेशन न्यायाधीश) डॉ. रूबीना परवीन अंसारी ने बताया कि जिले सभी न्यायिक न्यायालयों में रखे लंबित श्रेणी के 33571 प्रकरण को लेकर 16 लोक अदालत बैंचों का गठन किया गया था। इनके माध्यम से 29 हजार 331 प्रकरणों का निस्तारण कर 5 करोड़ 30 लाख 27 हजार 268 रुपए का अवॉर्ड और प्री-लिटिगेशन श्रेणी के 9 हजार 984 प्रकरण में से 2446 प्रकरणों का निस्तारण कर 3 करोड़ 85 लाख 24 हजार 664 रुपए का अवॉर्ड पास किया गया।

राष्ट्रीय लोक अदालत में लंबित प्रकरणों‎ का हुआ निस्तारण, कोर्ट ने वसूली करोड़ों‎

देवली| न्यायालय में शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया । जिसमें मौके पर ही करीब 300 प्रकरणों का निस्तारण कर राशि वसूल की गई। विधिक सेवा समिति सचिव संजय जैन ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में प्री लिटिगेशन के 854 प्रकरणों में से 230 प्रकरणों का निस्तारण किया गया । वहीं 7 लाख 49 हजार 138 रुपए की रिकवरी हुई । इनमें जेएम न्यायालय के 28 प्रकरणों का निस्तारण किया जाकर 5 लाख 96 हजार 601 रुपए दिलाए गए । इसी तरह अतिरिक्त न्यायिक मजिस्ट्रेट न्यायालय देवली के 15 प्रकरणों का निस्तारण कर 22 हजार 500 रुपए के अवार्ड पारित किए । राजस्व न्यायालय में प्री लिटिगेशन के 6000 प्रकरणों में से 5588 प्रकरण निस्तारित किए जाकर 35 लाख 79 हजार 478 की राशि वसूल की गई । वही लंबित 32 प्रकरण रखे गए । जिनमें 11 प्रकरण निस्तारित किए गए।

281 प्रकरणों का आपसी सहमति से निस्तारण,एमएसीटी मामलों में 55लाख 60 हजार के अवार्ड किए जारी

मालपुरा| न्यायालय परिसर में शनिवार को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत के अंतर्गत अलग अलग न्यायालयों में विचाराधीन विभिन्न प्रकार के करीब 281 प्रकरणों का अधिकारियों के प्रयास के बाद आपसी सहमति व राजीनामे के आधार पर निस्तारण किया गया । तालुका विधिक सेवा समिति अध्यक्ष व अपर जिला एवं सैशन न्यायाधीश विनोद कुमार शर्मा ने बताया कि एडीजे कोर्ट द्वारा एमएसीटी के 10 प्रकरणों में 55 लाख 60 हजार के अवार्ड जारी किए गए। इसके अलावा इसी कोर्ट के 8 सिविल मामले व 5 वैवाहिक विवाद संबंधी मुकदमों के अलावा फोजदारी के 3 प्रकरणों सहित कुल 26 प्रकरणों का निस्तारण किया । उन्होंने बताया कि वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश एवं अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कोर्ट के फोजदारी के 54 मुकदमों सहित एनआईएक्ट के 11 व सिविल के 2 सहित कुल 67 प्रकरणों निस्तारण हुआ। न्यायालय सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट के फोजदारी 23 व एनआईएक्ट के दो व सिविल के 9 प्रकरणों सहित कुल 34 का निस्तारण किया गया।

खबरें और भी हैं...