विकलांगता से दिलाई मुक्ति:जनकल्याण अस्पताल में 15 मरीजों के घुटने के जोड़ों को बदलकर विकलांगता से दिलाई मुक्ति

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गचौमू के जनकल्याण अस्पताल की टीम ने 15 मरीजों के घुटनों का सफल जोड़ प्रत्यारोपण कर विकलांगता से मुक्ति दिलाई है। प्रबंधक निदेशक डॉ. एनसी निठारवाल ने बताया कि करकेरी अजमेर निवासी लक्ष्मणराम पुत्र रमा राम, मुंडरू निवासी केसरी देवी पत्नी गीगा राम, चौमू निवासी शांति देवी पत्नी हरिनारायण, शांति देवी, खेजरोली निवासी आंची देवी यादव पत्नी सीताराम यादव, जाजैकलां निवासी मीरा देवी पत्नी रामचंद्र जाट, दौसा निवासी शांति देवी पत्नी फेलीराम, रेवाडी, हरियाणा निवासी अतर सिंह पुत्र नत्थूराम, हाड़ोता निवासी मनभरी देवी पत्नी छीतर मल सैनी, उदयपुरिया निवासी फूलचंद मीणा, परबतसर,नागौर निवासी पन्नालाल के घुटनों के जोड़ को बदलकर मुक्ति दिलाई। उक्त सभी मरीज घुटनों के जोड से परेशान चल रहे थे। इनमें से अधिकांश चलने-फिरने में भी असहज महसूस कर रहे थे। सभी मरीजों का एक साथ सम्मान किया गया। मरीजों को डा.बी के शर्मा, डाॅ. पंकज मित्तल, डाॅ. अशोक कुमार, डाॅ. पवन कुमार गोरा, सह आचार्य एसएमएस मेडिकल कॉलेज डा. आरएन यादव, चौमू थानाधिकारी हेमराज मूंड, यूईएम यूनिवर्सिटी के उप निदेशक संदीप अग्रवाल, अखिल भारतीय युवा अग्रवाल सम्मेलन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मनीष गोयल, व्यापार मंडल से लाला गुलिया, रामस्वरूप यादव, सरपंच फेलीराम आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...