बारिश, अंधड़ और ओले गिरने से अफरातफरी:लोगों को गर्मी से मिली राहत, तापमान 10 डिग्री गिरा

टोंकएक महीने पहले
अंधड़ और ओलावृष्टि के साथ तेज बारिश हुई और नीबू के आकार के ओले गिरे। बारिश और ओले गिरने से लोगों को गर्मी से राहत मिली। - Dainik Bhaskar
अंधड़ और ओलावृष्टि के साथ तेज बारिश हुई और नीबू के आकार के ओले गिरे। बारिश और ओले गिरने से लोगों को गर्मी से राहत मिली।

तेज गर्मी और लू के बीच आज शाम को मौसम ने पलटा खाया। देवली शहर समेत आस-पास के इलाके में अंधड़ और ओलावृष्टि के साथ तेज बारिश हुई और नीबू के आकार के ओले गिरे। बारिश और ओले गिरने से लोगों को गर्मी से राहत मिली। तापमान में करीब 10 डिग्री सेल्सियस की कमी देखी गई।

थांवला में आकाशीय बिजली गिरने से मीटर, बिजली लाइन जल गई। इलाके में 100 से ज्यादा पेड़ अंधड़ के चलते गिर गए। अचानक हुई ओलावृष्टि से कई सब्जी विक्रेता और दुकानदार संभल नहीं पाए और अफरातफरी मच गई। बंगाली कॉलोनी में तरबूजों से भरी पिकअप पलट गई। लोगों ने समय रहत्ते चलक समेत तीन जनो को बाहर सुरक्षित निकल लिया। हालांकि लोगों ने तरबूज लूट लिए। कई राहगीरों ने बरामदों में घुसकर अपने आपको बचाया।

प्रत्यक्षदर्शी अशोक मण्डल ने बताया कि यह हादसा शाम करीब पौने 6 बजे बंगाली कॉलोनी में सीआईएसएफ की दीवार से सटकर हुआ। जहां पुष्कर निवासी तीन जने देवली की सब्जी मंडी से पिकअप में तरबूज भरकर बंगाली कॉलोनी होते हुए वापस लौट रहे थे। ये लोग देवली गांव , नेगड़िया और केकड़ी होते हुए पुष्कर जा रहे थे। इस बीच दीवार के पास बारिश के पानी के भराव के चलते पिकअप ड्राइवर को नाले का पता नहीं लगा। लोगों ने आवाज देकर पिकअप चालक को नाले से दूर जाने को कहा। इससे पहले पिकअप बेकाबू होकर नाले में पलट गई । हादसे के बाद लोग दौड़कर पिकअप के करीब पहुंचे । जिन्होंने धर्मराज, बलराम, बनवारी बंजारा निवासी पुष्कर को पिकअप के दूसरे गेट से बाहर निकाल लिया ।

देवली एसडीएम ने बताया कि बारिश और ओलावृष्टि से कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ। हालांकि अंधड़ से कई इलाकों में पेड़ जरूर गिरे हैं। बिजली विभाग की टीम को जरूरी दिशा-निर्देश दिए गए हैं।