गुहार:श्मशान के रास्ते से अतिक्रमण हटवाने सहित पेयजल समस्या के निस्तारण की गुहार

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बाड़ा जेरेकिला के लोगों ने सोमवार को श्मशान के रास्ते पर हो रहे अतिक्रमण समेत पेयजल की समस्याओं से निजात दिलाने की मांग की है। लोगों ने बताया कि बाड़े जेरेकिला में श्मशान वाला रोड़ पुलिया से श्मशान के आस पास खेतों के मालिकों ने पानी की निकासी श्मशान रोड़ पर छोड़ रखी है। श्मशान आने-जाने का एकमात्र रास्ता होने के कारण रास्ते पर कीचड़ होने से आने-जाने में दिक्कतें आती है। उन्‍होंने बताया कि श्मशान में पानी की भी व्यवस्था नहीं है, क्योंकि वहां एक हैंडपंप की भी व्यवस्था भी नहीं है। ग्रामीणों ने कहा कि बाउंड्रीवाल नहीं होने से कुछ लोग श्मशान की भूमि पर अवैध रूप से कब्जा करने में लगे है।

ज्ञापन के जरिए उन्‍होंने श्मशान रोड़ पुलिया से श्मशान को अतिक्रमण मुक्त करवाकर पानी की व्यवस्था के लिए हैंडपंप लगाने व लोगों के बैठने के लिये टीन आदि की व्यवस्था कर श्मशान की बाउंड्रीवाल करवाए जाने की मांग की है। इस मौके पर कजोड़, लल्लू, मुकेश सैनी, बंशी गुर्जर, रामलाल, नैनूलाल गुर्जर, सूरज गुर्जर, प्रकाश गुर्जर, सीताराम गुर्जर, बाबूलाल सैनी आदि मौजूद रहे।

टोंक। मेहंदवास गेट क्षेत्र में पुराने रसद विभाग कार्यालय के पास अतिक्रमण की कलेक्टर से शिकायत करते हुए भीम सेना पदाधिकारियों ने उसे तत्काल हटाने की मांग की है। जिलाध्यक्ष अशोक बैरवा ने बताया कि घंटाघर सर्किल के पास, पुराने रसद विभाग कार्यालय के पास सरकारी खाली भूमि है। जहां समीप सावित्री बाई फुले, ज्योतिबा फुले के लिए प्रस्तावित किये जाने की बात ज्ञापन में कही गई है। लेकिन वर्तमान में जगह खाली होने के कारण कुछ लोगों ने वहां पर अवैध रूप से कब्जा करने की नियत से पट्टियां व पत्थर आदि डाल दी है।

खबरें और भी हैं...