• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Tonk
  • Sex Ratio Decreasing For 4 Years, Earlier It Was 948 On 1 Thousand, In 2021 22 Only 939 Were Born, In 2016 17 The Rate Was 1014

घटता लिंगानुपात:4 साल से घट रहा लिंगानुपात, पहले 1 हजार पर 948 थी, 2021-22 में 939 ही जन्मी, 2016-17 में 1014 थी दर

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • विशेषज्ञ जागरूकता का अभाव व बेटे-बेटियों में भेदभाव मान रहे

जिले में बेटियों का आंकड़ा पिछले साल के मुकाबले घटा है। लिंगानुपात की ये स्थिति जिले के लिए ठीक नहीं है। बीते 2021-22 में 1000 बेटाें के मुकाबले महज 939 बेटियों का ही जन्म हुआ, जबकि इससे पहले 2020-21 में एक हजार के मुकाबले 948 बेटियां जन्मी थी। पिछले 4 सालों से बालिका लिंगानुपात की स्थिति बालकों के मुकाबले कम ही रही है, जबकि वर्ष 2016 से 2017 में एक हजार बेटों के मुकाबले 1014 बेटियों का जन्म हुआ था। यानि की बेटों के मुकाबले 14 बेटियां अधिक जन्मी। जिले में घटते बालिका लिंगानुपात का कारण विशेषज्ञ जागरूकता का अभाव व बेटे-बेटियों में भेदभाव को मान रहे हैं।

घटते बालिका लिंगानुपात के चलते सरकार की ओर से प्रत्येक जिलों में पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ बनाया हुआ है। भ्रूण का लिंग चयन कानूनी अपराध है। पंजीकृत सोनोग्राफी केन्द्रों का चिकित्साधिकारियों की ओर से समय समय पर निरीक्षण किया जाता है। विभाग की ओर से मुखबिर योजना के साथ साथ जागरूकता को लेकर कई कार्य किए जा रहे हैं। बावजूद लिंगानुपात समान नहीं हो रहा।

खबरें और भी हैं...