खेतों में पानी भरने से किसान चिंतित:हजारों हेक्टेयर फसल डूबी, और बारिश हुई तो गलने का खतरा

टोंक6 महीने पहले
लगातार बारिश होने से खेतों में भरा पानी, इससे खरीफ की फ़सले गलने की संभावना बढ़ गई है।

जिले में 5-6 दिन से रुक-रुक कर हो रही बारिश से हजारों हेक्टेयर में पानी भर गया है। इसके चलते फसलें गलने का खतरा बढ़ गया है। इसको लेकर किसान चिंतित हो रहे हैं।

गौरतलब है कि जिले में इस साल खरीफ फसल की बुवाई 2 लाख 60 हजार हेक्टेयर ज्यादा में हुई है। फसलों की बुवाई के समय से ही बारिश अच्छी हो रही है। किसानों को लग रहा था कि इस साल खरीफ की फसल अच्छी होगी, लेकिन एक सप्ताह से रोजाना बारिश का दौर बन हुआ है। बारिश भी इतनी हो रही है कि हजारों हेक्टेयर खरीफ फसल पानी में डूब गई है। इसके चलते किसान परेशान हो रहे हैं। किसानों को यह चिंता सता रही है कि अच्छी बारिश के बावजूद उनकी उनकी फसल गलने के कगार पर आ गई है। खेतों में पानी भरा है।

और बारिश हुई तो खतरा
कृषि विभाग के सहायक निदेशक सांख्यिकी सुगर सिंह मीणा ने बताया कि अभी बहुत ज्यादा बारिश नहीं हुई है। कई खेतों में पानी भरा है। तीन-चार दिन तक और बारिश होती है तो फिर फसलें गलने की संभावना है। आज बारिश नहीं हुईं है। ऐसे तीन-चार दिन धूप निकलेगी तो नुकसान नहीं होगा।

खबरें और भी हैं...