परिजनों ने दिया धरना:हादसे में घायल युवक की उपचार के दौरान मौत

अरनोद21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

थाना क्षेत्र के वीरावली के पास 28 अक्टूबर को एक युवक रोड पर खड़े डंपर में घुस गया, जिससे उसको गंभीर चोट आई। गंभीर हालत में उसे प्रतापगढ़ अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे उदयपुर रेफर कर दिया गया। वहां उसकी मौत हो गई। इसको लेकर परिजनों ने दुर्घटना स्थल पर धरना-प्रदर्शन किया, लेकिन देर रात तक कोई सुलह नहीं हो पाई। अरनोद के वार्ड पंच शांतिलाल मेघवाल ने बताया कि अरनोद निवासी कैलाश पुत्र मांगीलाल मेघवाल बाइक लेकर अपने घर जा रहा था। इस दौरान वीरावली के पास रोड पर डंपर खड़ा था। सामने से तेज गति से आ रहे वाहनों की रोशनी में कैलाश रास्ते में खड़े डंपर को देख नहीं पाया और उसकी बाइक डंपर में जा घुसी। डंपर से भिड़ने पर कैलाश गंभीर घायल हो गया। उसको जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां से कैलाश को गंभीर हालत में उदयपुर रेफर कर दिया गया। शुक्रवार को उपचार के दौरान कैलाश की मौत हो गई।

कैलाश की मौत की खबर मिलते ही अरनोद के मेघवाल समाज में शोक की लहर छा गई। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए डंपर को जब्त कर लिया व डंपर चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। वार्डपंच शांतिलाल मेघवाल ने बताया कि कैलाश गरीब परिवार से था। मेहनत-मजदूरी कर अपने घर परिवार का गुजारा चला रहा था। कैलाश के चार बेटियां व एक बेटा है। घर का मुखिया होने के नाते कैलाश के परिवार पर रोजी-रोटी का संकट आ गया है। परिवार की आर्थिक हालत पहले से ही बेहद खराब थी और कैलाश के जाने के बाद अब परिवार पूरी तरह से रास्ते पर आ गया है। ऐसे में परिवार को मदद की जरूरत है।

शनिवार को भीम आर्मी सेना के अध्यक्ष गोविंद मेघवाल के तत्वावधान में वीरावली के समीप घटना स्थल पर मृतक के परिजनों सहित मेघवाल समाज ने मृतक के उपचार में आए खर्च की पूर्ति को लेकर डंपर मालिक से आर्थिक सहायता की मांग करते हुए शांति पूर्वक धरना देकर प्रदर्शन किया। आर्थिक सहायता मिलने पर ही मृतक का अंतिम संस्कार करने की चेतावनी दी।

यह अधिकारी पहुंचे मौके पर: मौके पर धरना-प्रदर्शन की सूचना को लेकर उपखण्ड अधिकारी सीमा खेतान, डिप्टी ऋषिकेश मीणा, अरनोद थानाधिकारी प्रवीण टांक, हथुनिया थानाधिकारी रविन्द्र सिंह, प्रतापगढ़ महिला थानाधिकारी धरम सिंह ने समझाइश की, लेकिन परिजन व समाज के लोग आर्थिक सहायता की मांग को लेकर अड़े रहे। शाम तक घटना स्थल पर लोग जुटे रहे, लेकिन डंपर मालिक की ओर से कोई प्रतिनिधि बात करने नहीं आया।
यह मांग भी रखी : शान्तिलाल मेघवाल ने बताया कि डंपर कभी तेज गति से तो कभी रोड पर बेवजह पार्किंग करने से आए दिन दुर्घटनाएं घटित हो रही हैं। मेघवाल ने पुलिस व प्रशासन से इन डंपरों की गति निर्धारित करने, बेतरतीब पार्किंग करने व ओवर लोडिंग करने पर कार्रवाई करने की मांग की है।

डंपर मालिक के आने पर समझाइश की जाएगी
^डंपर मालिक व चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। डंपर को जब्त कर लिया है। परिजनों ने उपचार के दौरान आए खर्च को दिलवाने की मांग की है। प्रशासन की ओर से डंपर मालिक को सूचना भेज दी गई है। आने पर बैठ कर समझाइश की जाएगी।
- सीमा खेतान, उपखंड अधिकारी

खबरें और भी हैं...