पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उपतहसील का दर्जा:दिवेर काे मिला उपतहसील का दर्जा, लाेगाें काे 70 किमी दूर नहीं जाना पड़ेगा

भीम6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भीम विधानसभा क्षेत्र की दिवेर को उप तहसील बनाया गया। दिवेर के लाेगाें की सालाें पुरानी मांग पूरी हाे गई। विधायक सुदर्शन सिंह रावत ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पूरजोर तरीके से मांग रखी थी। मगरा क्षेत्र के महाराणा प्रताप की युद्ध स्थली दिवेर के ग्रामीणों की बरसों पुरानी मांग थी। राज्य सरकार ने दिवेर को उपतहसील का दर्जा दिया।

अब भीम उपखंड मुख्यालय से दूर 6 पंचायतों सहित देवगढ़ की एक पंचायत के आम नागरिकों के राजस्व संबंधित काम में भी सहूलियत हो जएगी। अब इनको 50 से 70 किमी दूर भीम नहीं जाना पड़ेगा। दिवेर को उप तहसील का दर्जा मिलने से दिवेर, छापली, खीमाखेड़ा, कालागुमान, बाघाना, बरजाल जीरण ग्राम पंचायत के दो राजस्व गांव रत्नागुड़ा, टोकरा देवगढ़ की एक ग्राम पंचायत नरदास का गुड़ा सहित 7 ग्राम पंचायतों के हजारो ग्रामीणों को भीम व देवगढ़ के चक्कर नहीं काटने पड़ेगा। प्रदेश सरकार की कई योजनाओं में तहसीलदार के हस्ताक्षर कराने होते हैं। इससे पंचायतों के लोगों को लम्बी दूरी तय कर भीम आना पड़ता था। दिवेर को उप तहसील की अधिसूचना में देवगढ़ तहसील की नरदास का गुड़ा पंचायत को भी देवगढ़ से हटाकर दिवेर के समीपस्थ होने से शामिल किया।

इससे अब नरदास का गुड़ा पंचायत के लोगों को भी देवगढ़ के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। इससे इनको भी बड़ी राहत मिलेगी। राज्य सरकार की अधिसूचना अनुसार अब भीम तहसील में 08 भू-अभिलेख निरीक्षक केंद्र सहित बग्गड़ आंशिक सहित 27 पटवार मंडल रखे हैं।

खबरें और भी हैं...