रेणिया मगरी में तेंदुआ होने की सूचना:रात में रखवाया पिंजरा, कोई जानवर नहीं फंसा, तेंदुए की जगह मिले जरख के पदचिह्न

धरियावद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जमीन पर जरख के निशान - Dainik Bhaskar
जमीन पर जरख के निशान

नगर के रेणिया मगरी के समीप कीर समाज के लोगों की बस्ती में गुरुवार रात तेंदुआ और उसका बच्चा होने की सूचना मिली। प्रादेशिक वनखंड अधीनस्थ क्षेत्र होने से क्षेत्रीय वन अधिकारी तेजपाल मीणा मय जाप्ता मौके पर पहुंचे, लेकिन खेतों में पिलाई होने के कारण तेंदुए के कहीं भी पदचिह्न नहीं दिखाई दिए। फिर भी ग्रामीणों की मांग पर वन विभाग का अतिरिक्त जाप्ता बुलाकर मौके पर पिंजरा रखा गया, लेकिन सुबह तक कोई भी जानवर पिंजरे में नहीं फंसा।

मौके पर दिन व रात वन विभाग की टीम तैनात कर रखी है ताकि किसी प्रकार की जन व पशु हानि नहीं हो। शुक्रवार को वन विभाग के कर्मचारियों ने दिन में खेतों में जाकर जानवर के पैरों के निशान तलाशे। इस दौरान जरख के पैरों के निशान पाए गए। क्षेत्रीय वन अधिकारी तेजपाल मीणा ने बताया कि धरियावद नगर के सलूंबर रोड स्थित रेणिया मगरी में दिनेश चौधरी के मकान समीप रास्ते पर कीर समाज के युवकों ने उनके खेत पर तेंदुआ व उसका बच्चा देखने की खबर दी, लेकिन मौके पर तेंदुए के पदचिह्न या अन्य कोई सबूत नहीं मिले, जिससे पृष्टि हो सके की तेंदुए का इस क्षेत्र में विचरण हुआ है।

फिर भी ग्रामीणों की मांग पर वन विभाग का अतिरिक्त जाप्ता बुलाया व मौके पर पिंजरा रखा। साथ ही शुक्रवार को दिनभर वन विभाग की टीम इस क्षेत्र में गश्त करती रही। शाम को भी अतिरिक्त जाप्ता तैनात किया गया ताकि कोई जंगली जानवर होने पर उसे तुरंत प्रभाव से रेस्क्यू किया जा सके। इस दौरान वनपाल अल्का शाह, वन विभाग के संगीता मीणा, जावंतरी मीणा, महेंद्र सिंह चौहान, भैरूलाल गायरी, हिम्मतसिंह मय जाप्ता मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...