पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

150 से ज्यादा शादियों पर कोरोना का ग्रहण:उदयपुर में सख्ती के बाद 30 शादी समारोह हुए निरस्त, डेस्टिनेशन वेडिंग का सपना चकनाचूर, कई अन्य पर भी मंडरा रहा संकट

उदयपुर2 महीने पहलेलेखक: स्मित पालीवाल
प्रतीकात्मक फोटो

राजस्थान में कोरोना संक्रमण एक बार फिर बेलगाम हो गया है। इसके बाद प्रदेश सरकार ने रात्रि कर्फ्यू लागू कर कोरोना गाइडलाइन में सख्ती की है। अब शादी समारोह में सिर्फ 100 लोगों को ही बुलाया जा सकता है। सरकार के नए आदेश का सीधा असर डेढ़ सौ से अधिक शादी समारोह पर पड़ा है।

हलवाई, बैंड, इवेंट, मैरेज गार्डन और होटल इंडस्ट्री पर मार
लेकसिटी उदयपुर अपनी मेहमान नवाजी के साथ डेस्टिनेशन वेडिंग इवेंट के लिए दुनियाभर में पसंदीदा शहर माना जाता है, लेकिन सरकार के आदेश के बाद अब शादी समारोह में कोरोना रोड़ा बन गया है। उदयपुर में होने वाली 30 से अधिक डेस्टिनेशन वेडिंग इवेंट कैंसिल कर दिए गए हैं। वहीं हलवाई, बैंड, इवेंट, मैरिज गार्डन और होटल इंडस्ट्री पर भी इसकी सीधी मार पड़ने लगी है। 22 अप्रैल से उदयपुर में शादियों का सीजन शुरू हो रहा था। इसकी तैयारियों में कई महीने पहले से ही सभी जुटे थे। सरकार के नए आदेश ने इन तैयारियों पर पानी फेर दिया है। उदयपुर में होने वाली करीब डेढ़ सौ शादी समारोह पर कोरोना का ग्रहण मंडरा रहा है।

खर्चा निकालना हो रहा मुश्किल
होटल संस्थान दक्षिणी राजस्थान के सचिव राकेश चौधरी कहते हैं- अप्रैल में होने वाली शादियों के लिए 6 महीने पहले ही बुकिंग हो गई थी। सरकार के आदेश के बाद अब सभी बुकिंग कैंसिल हो रही हैं। टूरिस्ट सीजन में जहां होटल की ऑक्यूपेंसी 100% रहती थी। वहीं कोरोना के बाद यह घटकर 10% पर पहुंच गई है। इसका सीधा असर खर्चे पर पड़ा है। रोजाना का खर्च निकालना मुश्किल हो रहा है। सरकार की सख्ती के बाद कई शादी समारोह रद्द कर दिए गए हैं।

पिछले साल भी हुआ था यही हश्र

ऐसा ही हाल बैंड कारोबार का भी है। कोरोना के बाद गरीब मजदूरों पर आजीविका का संकट छा गया है। राजस्थान बैंड एसोसिएशन के महामंत्री बुलबुल भाई कहते हैं- सख्त गाइडलाइन के कारण उदयपुर में पिछले 30 डेस्टिनेशन वेडिंग इवेंट कैंसिल हो चुके हैं। इसमें बंगलुरु, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात आदि राज्यों के समृद्ध लोगों की शादियां उदयपुर में होनी थी। इन शादियों की तैयारियों पर नई गाइडलाइन ने पानी फेर दिया है। इसका सीधा असर बैंड बजाने वालों पर भी पड़ा है। बुलबुल ने बताया कि ऐसा ही हाल पिछले साल भी हुआ था। बमुश्किल फिर से जिंदगी पटरी पर आई थी, कि नया फरमान सुना दिया गया।

वेडिंग इंडस्ट्री चुकाएगी कीमत
उदयपुर के वेडिंग प्लानर ब्रिजेश परवानी ने बताया कि बढ़ते कोरोना के बाद लागू की गई सख्ती से शादी समारोह कैंसिल हो रहे हैं। इस महीने उदयपुर में कई बड़ी शादियां होनी थीं, पर अब नहीं होंगी। इससे वेडिंग इंडस्ट्री को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। परवानी ने बताया कि सरकार ने शादी समारोह में सिर्फ 100 लोगों की अनुमति दी है। इसके बाद हलवाई, मैरिज गार्डन, होटल इंडस्ट्री, इवेंट प्लानर्स पर इसका सबसे ज्यादा असर हो रहा है।

हलवाई भी हुए परेशान नहीं मिल रहा समाधान

कैटर्स एसोसिएशन के लीलाधर ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से बढ़ते संक्रमण के बाद स्थिति काफी बिगड़ गई है। अप्रैल से पहले की जितनी भी बुकिंग थी। धीरे धीरे सब कैंसिल हो रही है। वहीं कुछ में कार्यक्रम को सिर्फ चुनिंदा मेहमानों तक सीमित कर दिया गया है। सरकार लगातार नियमों में बदलाव कर रही है। जिससे आगे की स्थिति भी पूरी तरह अधर झूल में है। इसका सीधा असर हमारे व्यापार पर पड़ रहा है। जिससे 2 जून की रोटी कमा पाना भी मुश्किल साबित हो रहा है।

अब तो औपचारिकता होगी

उदयपुर सेक्टर-4 निवासी नवनीत भट्ट ने बताया कि उनके परिवार में शादी समारोह का आयोजन किया जाना था। कोरोना संक्रमण की वजह से अब उनकी उम्मीदों पर पानी फिर गया है। भट्ट ने बताया कि उन्होंने मैरिज गार्डन से लेकर हलवाई तक बुक कर लिया था। इसके साथ ही समारोह में शामिल होने वाले मेहमानों की लंबी लिस्ट बना कार्ड भी छपवा लिए थे। अब सरकार के आदेश के बाद उन्हें अपने मेहमानों की लिस्ट में काट छांट करनी पड़ रही है। ऐसे में शादी समारोह अब सिर्फ एक औपचारिकता बनकर रह गया है। चुनिंदा लोगों की मौजूदगी में सिर्फ विवाह की रस्मों को अदा किया जाएगा।

अप्रैल में 8 सावे, सभी में जोरदार बुकिंग

अप्रैल से एक बार फिर शादियों के मुहूर्त शुरू हो रहे हैं। अप्रैल से जुलाई तक 35 मुहूर्त हैं। 25 अप्रैल को बड़ा मुहूर्त है और बड़ी संख्या में शादियां है। किंतु लग्न, दावत आदि के आयोजन 22 से प्रारंभ हो जाएंगे। अप्रैल में 22, 24, 25, 26, 27, 28, 29 और 30, मई में 1, 2, 7, 8, 9, 12, 13, 14, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 25, 26, 27, 28, 29 और 30, जून में 3, 4, 5, 16,18, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 26 और 30, जुलाई में 1, 2, 7, 13 और 15 का सावा रहेगा। इसके बाद देवशयन को चले जाएंगे और नवंबर में विवाह के लिए 3 महीने के लंबे अंतराल के बाद 9 शुभ मुहूर्त आएंगे। नवंबर में 15, 16, 20, 21, 22, 27, 28, 29 और 30 तथा दिसंबर में 1, 2, 6, 7, 11, 12 और 13 काे सावा है।

खबरें और भी हैं...