पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई:सम्मान की क्लास से 4 गुरुजी आउट; नियमविरुद्घ चुने थे, विभाग ने सीबीईओ से पूछा-ऐसा क्यों हुआ?

उदयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आज प्रदेशभर में वर्चुअल सम्मान समाराेह, उदयपुर के 40 शिक्षक
  • शिक्षक सम्मान चयन प्रक्रिया में गड़बड़ी के खुलासे पर कार्रवाई

शिक्षा विभाग की ओर से गुरुवार को होने वाले समारोह में जिले से चयनित 44 में से उन चार शिक्षकों का सम्मान नहीं होगा, जिन्हें लेकर भास्कर ने सवाल उठाए थे। अब राज्य व जिला स्तर पर तीन-तीन के बजाय दो-दो और ब्लॉक स्तर पर 38 के बजाय 36 शिक्षक अवार्ड पाएंगे। जिले से तीनों स्तर पर पहले 44 का चयन हुआ था।

सम्मान के लिए तय नियमों की अवहेलना के खुलासे पर अधिकारियों ने चार शिक्षकों का सम्मान स्थगित कर दिया, लेकिन 40 को लेकर कुछ नहीं कहा है। मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी (सीडीईओ) शिवजी गौड़ ने बताया कि सम्मान स्थगन वाले शिक्षकों को लेकर गिर्वा, गोगुंदा, सलूंबर और झाड़ोल सीबीईओ से तत्काल रिपोर्ट मांगी है।

जब तक रिपोर्ट नहीं आती, ये शिक्षक इस योजना में सम्मानित नहीं किए जाएंगे। शिक्षकों से आवेदन लेने और उनके सत्यापन की जिम्मेदारी संबंधित पीईईओ और सीबीईओ की थी। बता दें, शिक्षा विभाग सरकारी स्कूलों में बेहतरीन काम वाले शिक्षकों का गुरुवार को सम्मान करने वाला है। कोविड के कारण ये समारोह वर्चुअल होंगे। राज्य और जिला स्तर पर सम्मानित होने वाले जिला मुख्यालय पर सम्मान पाएंगे।

विवादित शिक्षकों की उपस्थिति, रिकॉर्ड और रिजल्ट मंगवाए

राज्य स्तर पर सम्मान के लिए डायला (सलूंबर) प्राथमिक विद्यालय के प्रबोधक मोहन गिरि गोस्वामी, जिला स्तर पर सम्मान के लिए झाड़ोल ब्लॉक से ढीमड़ी स्कूल के नानालाल पारगी और ब्लॉक स्तर पर सम्मान के लिए गोगुंदा से दुर्गा शंकर श्रोत्रिय का चयन हुE था। इनके अलावा सुरफलाया (गिर्वा) स्कूल के शिक्षक भैरूलाल कलाल पहली से पांचवीं कक्षा वाले वर्ग के बजाय नौवीं से 12वीं वर्ग में चुना गया। इस कारण वे सम्मान सूची में जिला की जगह ब्लॉक स्तर पर आ गए थे। विभाग ने विवाद का कारण बने इन शिक्षकों की उपस्थिति, रिकॉर्ड और रिजल्ट मंगवाए हैं।

खबरें और भी हैं...