सबसिटी सेंटर में हंगामा:डेरे से 5 माह का बच्चा गायब, मां के शक पर पति बोला- कोई आया था खरीदने, मैंने मना कर दिया

​​​​​​​उदयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिनभर नशे में झगड़ता रहा दंपती, पुलिस ने शुरू की जांच

हिरणमगरी थाना क्षेत्र के सबसिटी सेंटर क्षेत्र में डेरे में सो रहे दंपती का एक पांच माह का बच्चा गायब हो गया। दिनभर इसको लेकर ड्रामा चला और महिला ने अपने पति पर बच्चे को बेचने का संदेह जताया है। इस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक सबसिटी सेंटर में एक डेरे में पांच माह का बच्चा रात को लापता हो गया। मंगलवार सुबह से ही ये पति-पत्नी इस बच्चे को तलाश रहे थे, लेकिन दोनों ही नशे में थे। दोनों आपस में झगड़ते रहे। बीच-बीच में महिला जोर-जोर से चीखकर पति पर ही आरोप लगा रही थी। इसे सुनकर मौके पर काफी लोग जुट गए। लोगों से पूछने पर पिता ने बताया कि सोमवार शाम कोई युवक डेरे में आया और एक लाख रुपए में बेटा खरीदने की बात कह रहा था, लेकिन उसने मना कर दिया।

डेरे पर आए युवक को दंपती नहीं पहचानता और न पहले उसे कहीं देखा था। सोमवार रात करीब दो बजे दंपती की नींद खुली तो बेटा गायब था। तब से ही दोनों अपने बेटे को ढूंढ रहे हैं। महिला ने बताया कि उसे अपने पति पर बेटा बेचने का संदेह है। करीब एक घंटे चले इस ड्रामे के बाद क्षेत्रवासियों ने हिरणमगरी थाना पुलिस को इसकी सूचना दी। जिस पर पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों को थाने ले गई, जहां पूछताछ की जा रही है। मामले की हकीकत पुलिस पड़ताल के बाद ही पता चल सकेगी।

इधर आगरा से भटककर सिटी स्टेशन पहुंचा बालक, नारायण सेवा में शेल्टर

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय जतन संस्थान द्वारा संचालित रेलवे चाइल्ड को एक गुमशुदा दिमागी रूप से कमजोर बालक रोता हुआ मिला। बालक की तलाशी करने पर कुछ नहीं मिला। रेलवे चाइल्ड लाइन के समन्वयक मोहनलाल लोहार ने बताया कि बालक के हाथ पर मोबाइल नंबर लिखे हुए थे। बात करने पर बालक के पिता ने फ़ोन उठाया जिसने अपने घर का पता आगरा का बताया। बालक घर से बिना बताए निकल गया था। रेलवे चाइल्ड लाइन टीम ने बालक की काउंसलिंग कर बालक की रोजनामचा आरपीएफ थाने में कराकर बालक को बाल कल्याण समिति सदस्य के सामने प्रस्तुत कर नारायण सेवा संस्थान में अस्थायी आश्रय दिलाया दिया है।

खबरें और भी हैं...