पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्मार्ट उदयपुर:15 दिन में ही देश के 100 शहरों में छठे से 5वां स्थान; 725 कराेड़ के 30 काम प्रगति पर

उदयपुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रोजेक्ट से स्मार्ट बनी चांदपोल - Dainik Bhaskar
प्रोजेक्ट से स्मार्ट बनी चांदपोल
  • स्मार्ट सिटी रैंकिंग - जयपुर, काेटा और अजमेर दौड़ में हमसे पीछे, अब आगरा, इंदौर, सूरत और भोपाल से हमारा मुकाबला

स्मार्ट सिटी के कामों की प्रोग्रेस सहित अन्य मापदंडाें में खरा उतर रहा उदयपुर देश के 100 शहराें मेें 5वीं रैंक पर आ गया है। लेकसिटी ने 15 दिन में यह बढ़त हासिल की है। गत 19 जून की रैंकिंग में उदयपुर 100 शहराें में छठे स्थान पर था। इस बार हम अहमदाबाद से भी आगे हैं।

ताजा रैंकिंग में उदयपुर 68.54 स्कोर के साथ 5वें पायदान पर है। इससे पहले उदयपुर का स्कोर 67.87 था, जबकि मई में 8वां स्थान था। फिलहाल काेटा 61.14 स्काेर के साथ 12वें, अजमेर (53.52) 27वें और जयपुर (48.72) 35वेें स्थान पर है।

हालांकि राजधानी जयपुर ने भी एक पायदान का सुधार किया है। पिछली बार जयपुर देशभर में 36वें नंबर पर रहा था। स्मार्ट सिटी में अब नंबर वन की रैंक के लिए उदयपुर को आगरा, इंदौर, सूरत और भाेपाल से मुकाबला करना है।

शहरी विकास मंत्रालय स्मार्ट सिटी में शामिल शहराें की रैंकिंग जारी करता हैं। उसमें कामों की प्रगति देखी जाती है। यह भी देखा जाता है कि अब तक कितने काम पूरे हाे चुके हैं और टेंडर प्रक्रिया की रफ्तार क्या है। मंत्रालय इस पर भी नजर रखता है कि किसी शहर काे विकास कार्यों के लिए जाे फंड दिया गया था।

उसे काम लेने के बाद उपयाेगिता प्रमाण पत्र भेजने में कौनसा शहर कितना सक्रिय रहा। उदयपुर स्मार्ट सिटी के तहत 990 कराेड़ के काम स्वीकृत हुए थे। शहर में 25 जून 2016 काे काम शुरू हुए। अब तक करीब 270 कराेड़ के काम हाे चुके हैं।

725 कराेड़ के 30 काम प्रगति पर हैं। इसमें वाॅल सिटी में 537 कराेड़ से सीवरेज, पानी की लाइन, डक्ट बनाने, वाटर ट्रीटमेंट प्लांट तैयार करने के साथ ही आयड़ नदी विकास याेजना, कुम्हारों का भट्टा पर फ्लाईओवर और हिरणमगरी में स्मार्ट राेड जैसे बड़े काम भी शामिल हैं।

वाॅल सिटी में चल रहे काम अक्टूबर तक पूरे करने का लक्ष्य हैं। आयड़ विकास अगले साल अगस्त और फ्लाईओवर का काम फरवरी तक पूरा हाेने की उम्मीद है।

हम लक्ष्य से एक कदम पीछे, लेकिन पहले से बेहतर

पिछली रैंकिंग देख स्मार्ट सिटी सीईओ नीलाभ सक्सेना और हमारी टीम ने देश में टाॅप-4 में आने का लक्ष्य लिया था। उससे हम एक कदम पीछे हैं, लेकिन अगली बार उदयपुर की रैंकिंग और सुधरेगी। पूरी टीम इसी लक्ष्य के साथ काम कर रही है। काेराेना के बावजूद कार्य प्रगति आशानुरूप रहने और बाकी के मापदंड पर भी उदयपुर खरा उतर रहा है। -प्रदीप सांगावत, एसीईओ, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट

खबरें और भी हैं...