पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोख से हार गया कोरोना:7 माह में 7217 महिलाएं प्रसव को पहुंची, 141को कोराेना, 7132 नवजात-85 गर्भस्थ स्वस्थ

उदयपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हॉस्पिटल में भर्ती कोरोना संक्रमित प्रसूताओं की डॉक्टर-नर्सिंग स्टाफ पीपीई किट पहनकर कर रहे हैं देखभाल
  • मां के अभेद्य सुरक्षा कवच के आगे आखिर महामारी ने भी टेक दिए घुटने

मां... मां का आंचल इतना मजबूत है कि दुनिया की कोई मुसीबत इसे नहीं भेद सकती। फिर बात कोख की हो तो यह तो और भी अभेद्य कवच है। कोरोना भी इसे कैसे भेदता। प्रमाण सामने है- कोरोना ने पैर पसारे, उसके बाद इस साल अप्रैल से अब 18 अक्टूबर तक 7217 गर्भवती महिलाएं प्रसव के लिए अस्पतालों में पहुंचीं।

इनमें से 141 कोरोना संक्रमित मिलीं। सुखद यह कि इनमें भी जिन 56 संक्रमित महिलाओं के प्रसव हुए, उनके समेत 7132 नवजातों में भी संक्रमण सामने नहीं था। यही नहीं, 85 गर्भवती महिलाएं भी निगेटिव आ चुकी हैं और चिकित्सकों का दावा है कि इनके गर्भस्थ शिशुओं में भी दूर-दूर तक कोरोना के लक्षण नहीं हैं।

पुणे में संक्रमित मिली थी देश की पहली नवजात
अगस्त में पुणे (महाराष्ट्र) में कोरोना वायरस का पहला वर्टिकल ट्रांसमिशन केस सामने आया था। डॉक्टरों के मुताबिक यह देश का पहला मामला था, जिसमें गर्भवती महिला से उसके गर्भस्थ शिशु तक कोरोना वायरस जा पहुंचा। हालांकि प्रसूता कोरोना निगेटिव निकली थी, लेकिन नवजात पॉजिटिव मिली।

संक्रमित मांओं का दूध भी पूरी तरह सुरक्षित
आरएनटी मेडिकल कॉलेज के पन्नाधाय जनाना अस्पताल की अधीक्षक डॉ. मधुबाला चौहान बताती हैं कि अस्पताल पहुंची 108 गर्भवती और प्रसूताओं में कोरोना वायरस का वायरल लोड दूसरे संक्रमितों की तुलना में बेहद कम मिला है। किसी भी प्रसूता को ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ी है। न किसी संक्रमित प्रसूता का कोई भी नवजात संक्रमित मिला। संक्रमित प्रसूता को मास्क-दस्ताने पहनाकर नवजात की फीडिंग कराते आ रहे हैं। फिर नवजात को प्रसूता से दूर अटेंडेंट या स्टाफ के पास ही रखते हैं। संक्रमित मांओं का दूध भी नवजातों के लिए पूरी तरह सुरक्षित साबित हुआ है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें