पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सतर्कता:हैदराबाद में 8 शेरों को कोरोना, हमारे बाॅयो पार्क में प्रोटोकॉल से देखरेख

उदयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बायोलॉजिकल में लाॅयन के होल्डिंग एरिया में पीपीई किट पहनकर वन्यजीवों को खाना डालते हुए केयर टेकर। - Dainik Bhaskar
बायोलॉजिकल में लाॅयन के होल्डिंग एरिया में पीपीई किट पहनकर वन्यजीवों को खाना डालते हुए केयर टेकर।
  • बॉयोलॉजिकल पार्क में 3 बाघ, 6 शेर, 7 तेंदुओं के अलावा 22 एनक्लोजर में शाकाहारी और मांसाहारी वन्यजीव

हैदराबाद के नेहरू जूलॉजिकल पार्क में 8 शेराें के काेराेना संक्रमित हाेने का मामला हाल ही सामने आया है। इसे देखते हुए सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में वन्यजीवों की सेहत पर खास ध्यान दिया जाने लगा है। यहां मांसाहारी वन्यजीवाें काे खाना देने के लिए केयर टेकर पीपीई किट पहनकर ही होल्डिंग एरिया में जा रहे हैं।

डाॅक्टर भी यही सावधानी बरत रहे हैंं। यहां तक कि मांसाहारी जानवरों काे इम्युनिटी बढ़ाने के लिए लिक्विड डाेज भी दिया जा रहा है। बता दें कि सज्जनगढ़ बायो पार्क में मांसाहारी वन्यजीवों में मुख्य रूप से 3 बाघ, 6 शेर, 7 तेंदुओं के अलावा भी अन्य जानवर हैं। साथ ही 22 एनक्लोजर में शाकाहारी और मांसाहारी वन्यजीव रहते हैं।

पार्क के अधिकारियों ने बताया कि पिछले साल मार्च में अनलाॅक हाेने के बाद से वन्यजीवों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। हालांकि काेराेना की दूसरी लहर आने के बाद से ये एहतियात और ज्यादा बढ़ा दिए हैं ताकि कर्मचारियों में भी संक्रमण नहीं हाे और यह परेशानी वन्यजीवों तक नहीं पहुंचे।

लॉकडाउन के बाद से पार्क बंद है, इसलिए लाेगाें का आवाजाना भी बंद है। अब स्टाफ काे भी कम कर दिया है। साेच यह है कि कम स्टाफ हाेने से वन्यजीवाें से संपर्क भी कम हाेगा। सेनेटाइजेशन, पीपीई किट का आदि का भी नियमित उपयाेग कर रहे हैं।

बायाे पार्क के डाॅ. हंस कुमार जैन ने बताया कि सप्ताह में मंगलवार काे छाेड़कर राेज शाम काे वन्यजीवों काे खाना दिया जा रहा है। मांसाहारी वन्यजीवों काे दिए जा रहे मांस काे 70 डिग्री तापमान के गर्म पानी में साफ करने के बाद वन्यजीवों काे खाने के लिए डाल रहे हैं।

साथ ही इम्युनिटी बढ़ाने के लिए उनके पानी में लिक्विड दवाई डाली जा रही है। जिससे की उनको कोई बीमारी ना हो। खाना डालने के समय सभी वन्य जीवों का का रुटीन चेकअप भी किया जा रहा है। अभी सभी वन्यजीव स्वस्थ हैं।

खबरें और भी हैं...