पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कमजोर पड़ा कोरोना:62 दिन बाद संक्रमण दर 5% से नीचे, एक्टिव रोगी 3259, अब 704 ही भर्ती

उदयपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुपर स्पेशिलिटी विंग का खाली वार्ड। - Dainik Bhaskar
सुपर स्पेशिलिटी विंग का खाली वार्ड।
  • 137 नए संक्रमित मिले, चिंता-12 रोगियों ने तोड़ा दम

लाॅकडाउन के बीच उदयपुर के लिए राहत की खबर है कि कोरोना का काला साया धीरे-धीरे सिमट रहा है। शनिवार काे 2827 सैंपलों की जांच में 4.84 संक्रमण दर से 137 नए राेगी मिले। पिछले 62 दिनों में पहली बार संक्रमण की दर 5 फीसदी से नीचे आई है। इससे पहले 28 मार्च को 4.64 प्रतिशत दर थी, जब 1918 सैंपलों में से 89 में संक्रमण मिला था। उसके बाद लगातार सात दिन तक संक्रमण दर 10 से नीचे रही, लेकिन 5 अप्रैल से 26 मई तक दहाई में ही बनी रही।

भयावह यह भी रहा कि इसी दरमियान कई बार 30 प्रतिशत से ज्यादा की दर से नए मरीज मिले। अब एक्टिव मरीजों की संख्या भी लगातार गिरावट के साथ 3259 है। इनमें से 2555 हाेम आइसोलेट हैं, जबकि 704 मरीज भर्ती हैं। यानी रिकवरी के साथ अस्पताल भी खाली होने लगे हैं।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े बताते हैं कि बीते 10 दिन में संक्रमण दर में भारी गिरावट आई है। 22 से 28 मई तक 7 दिन में औसतन 11.24 फीसदी दर से 1351 काेराेना मरीज ही मिले हैं, जबकि इस महीने के दूसरे सप्ताह में संक्रमण दर 29.24 फीसदी तक थी।

राहत की बात इसलिए भी है कि 1 मई को जहां एक्टिव केस 11 हजार 478 तक थे, वह घटकर तिहाई के करीब रह गए हैं, जबकि रिकवरी दर 90 फीसदी के करीब पहुंच चुकी है। मई के शुरुआती दाे हफ्तों में यह 70 फीसदी ही थी।

हालांकि मौत के आंकड़ों में उल्लेखनीय अंतर नहीं आया है। मरने वालों की संख्या अभी भी दहाई में है। शनिवार काे 12 संक्रमितों की माैत हाे गई, वहीं पिछले सात दिन में 117 मरीज जान गंवा चुके हैं यानी औसतन 17 मरीजों की राेज जान जा रही है।

दूसरे सप्ताह में 30 फीसदी थी संक्रमण दर, राेज मिल रहे थे औसत 900 मरीज : चार सप्ताह पहले के मुकाबले फिलहाल राेज मिलने वाले संक्रमितों की संख्या अप्रत्याशित रूप से गिरी है। 1 से 7 मई तक जहां औसत 900 मरीज प्रतिदिन मिल रहे थे, वहीं अंतिम सप्ताह में आंकड़ा 200 से भी कम रह गया है। सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी ने बताया कि 22 से 28 मई के दौरान हर दिन औसतन 193 संक्रमित मिले हैं।

अस्पताल ऑक्सीजन आईसीयू वेंटि.
जीएमसीएच 30 10 0
पीएसीएच 73 07 0
पिम्स उमरड़ा 26 13 10
पारस जेके 20 00 0
जीबीएच मुधबन 29 03 01
शर्मा हॉस्पिटल 31 06 0
चौधरी हॉस्पिटल 22 0 0
सनराइज 07 03 0
अरावली 18 0 0
कल्पना 22 04 03
कनक 13 02 03
कुल 291 48 17

21 से 16 हुई कोविड अस्पतालों की संख्या
लगातार मरीजों की घटती संख्या के चलते प्रशासन ने जीबीएच बेड़वास का कोविड अस्पताल बंद कर दिया है। इसके साथ ही अब शहर में कोविड हॉस्पिटलों की संख्या 16 हो गई है। कोरोना जब पीक पर था, तब 21 अस्पतालों में इलाज चल रहा था। आरएनटी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. लाखन पोसवाल ने बताया कि रोगियों की घटती संख्या को देखते हुए सुपर स्पेशियलिटी विंग के 80% बेड संभावित तीसरी लहर के लिए रिजर्व कर दिए हैं। 500 अतिरिक्त बेड भी तैयार हैं। अगर तीसरी लहर नहीं आई तो सुपर स्पेशियलिटी सेवाओं को शुरू कर देंगे।

ये रहा मई के चार हफ्तों में संक्रमण दर का ट्रेंड

सप्ताह कुल केस संक्रमण दर
1-7 6271 26.13
8-14 6314 29.24
15-21 3066 19.17
22-28 1351 11.24
(संक्रमण दर प्रतिशत में, स्रोत : चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग)

2827 सैंपलों की जांच में 1 वॉरियर समेत 137 रोगी
जिले में शनिवार काे 137 नए मरीज मिले। विभाग ने 2827 सैंपल की जांच की थी। कोविड-19 प्रभारी डॉ शंकर एच बामनिया ने बताया कि नए संक्रमितों में शहरी क्षेत्र के 86 और ग्रामीण के 51 हैं। इन्हीं में 34 वर्षीय चिकित्सक भी शामिल है, जिसमें संक्रमण की पुष्टि हुई है। उदयपुर में अब कुल केसों की संख्या 55 हजार 608 हो गई है। इनमें से 49 हजार 768 रोगी रिकवर हो चुकी हैं।

वैक्सीनेशन : आज युवाओं को 12 सेंटर्स पर लगेगी को-वैक्सीन डोज

शनिवार को 5 हजार 491 कुल डोज लगे। जिसमें 4 हजार 878 पहला डोज और 613 दूसरा डोज लगा। रविवार को 18-44 के आयु वर्ग के नागरिकों के लिए को-वैक्सीन का पहला डोज 12 सेंटर्स पर लगेगा। जिसमें विद्या भवन पब्लिक स्कूल, फतेहपुरा, सामुदायिक भवन (सेक्टर 14), आयुर्वेदिक कॉलेज, अम्बामाता, इंडोर स्टेडियम एमबी कॉलेज ग्राउंड, यूसीएचसी भुवाणा, किसान भवन (रेती स्टैंड), पीएचसी खेरोदा, सीएचसी डबोक, पीएचसी खाण्डी ओबरी, पीएचसी बड़ी, पीएचसी लकड़वास और पीएचसी भैंसडाखुर्द आदि शामिल है। फिलहाल कोविशील्ड के डोज नहीं होने से सत्र आयोजित नहीं होंगे।

पुलिस की सख्ती : गाइडलाइन तोड़ी, 1601 चालान, 1.90 लाख जुर्माना

लॉकडाउन की सख्तियों के बीच कोरोना नियंत्रण में लगी पुलिस मास्क नहीं पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ने, बेवजह घरों से बाहर निकलने पर लगातार कार्रवाई कर रही है। इसी सख्ती के तहत शनिवार को शहर की प्रमुख सड़कों और चौराहों पर लगे नाकों पर मास्क नहीं पहनने पर 29 और सोशल डिस्टेंसिंग तोड़ने पर 1601 लोगों के खिलाफ चालान बनाए हैं। दोनों कार्रवाई में पुलिस ने लोगों से करीब 1.90 लाख रुपए का जुर्माना वसूला है। इसके अलावा सड़क पर थूकने पर 14 लोगों के चालान बना 2800 रुपए जुर्माना लगाया और 13 वाहनों को जब्त किया। बेवजह सड़कों पर निकले 7 लोगों को संस्थागत क्वारेंटाइन किया गया।

खबरें और भी हैं...