• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • After The Lockdown, The Woman In Financial Trouble Got A Job And Later Accused Of Rape By Pretending To Marry, MLA Pratap Gameti Has Been In Discussion Earlier

गोगुन्दा MLA पर दुष्कर्म का आरोप:शादी का झांसा देकर 2 साल तक दुष्कर्म करता रहा; विधायक पर पहले भी लग चुका रेप का इल्जाम

उदयपुर7 महीने पहले

उदयपुर के अंबामाता थाना क्षेत्र में एक महिला ने गोगुन्दा विधायक प्रतापलाल गमेती के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया है। पुलिस ने बुधवार देर रात पीड़िता के बयान दर्ज करने के साथ ही हाथों-हाथ मेडिकल भी करवाया। पीड़िता का आरोप है वो नौकरी के लिए भाजपा के विधायक के पास पहुंची थी। विधायक उसे शादी का झांसा देकर करीब 2 साल से यौन शोषण कर रहा था। हाल ही में वल्लभनगर विधानसभा उपचुनाव के बाद कन्नी काटनी शुरू कर दी। इससे परेशान होकर उसने कानून की मदद लेने की ठानी है।

दरअसल, 38 वर्षीय पीड़िता ने बुधवार को एसपी ऑफिस में लिखित रिपोर्ट पेश की। इसके बाद शाम को अंबामाता थाने में विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ। फिलहाल यह मामला सीआईडी सीबी को दिया गया है, जहां एएसपी अंजना सुखवाल इस केस की जांच कर रही हैं।

देर रात मामला दर्ज होने के बाद भास्कर संवाददाता ने पीड़िता से बात की। पीड़िता ने बताया कि दो साल पहले पीड़िता को रोजगार की जरूरत होने पर वह गोगुन्दा विधायक प्रतापलाल से फतहपुरा स्थित नवरत्न कॉम्प्लेक्स में संपर्क में आई। प्रतापलाल ने उसे रोजगार देने का झांसा दिया।

पहले उन्होंने मेलजोल बढ़ाया और शादी का झांसा देकर जबरन शारीरिक संबंध बनाए। पीड़िता का आरोप है कि इसके बाद विधायक लगातार जान से मारने की धमकियां देकर लगातार शारीरिक संबंध बनाने को मजबूर करता रहा।

शिकायत करने थाने पहुंची महिला।
शिकायत करने थाने पहुंची महिला।

पीड़िता की मानें तो कुछ महीने पहले उसने परेशान होकर आत्महत्या करने की बात कही तो विधायक प्रतापलाल ने शादी का झांसा देकर उसे रोक दिया। इसके बाद शादी करने के बहाने पीड़िता को जयपुर स्थित फ्लैट पर ले गया, वहां पर भी शारीरिक संबंध बनाए, लेकिन शादी नहीं की। इसके बाद देबारी स्थित फार्म हाउस पर शादी के लिए बुलाया। इस दौरान दो खाली स्टांप पर साइन भी करवा दिए।

पीड़िता ने बताया कि विधायक ने उसे वल्लभनगर उपचुनाव निकलने के बाद शादी करने की बात कही। इसके बाद 14 अक्टूबर 2021 को घर से अगवा करके ले गया। कुछ भी बोलने पर जान से मारने की धमकी देकर वापस घर छोड़ दिया। इस पूरे घटनाक्रम में विधायक प्रतापलाल का पीए और ड्राइवर भी साथ रहे।

पीड़िता ने भास्कर को यह तस्वीर भी दी है। जिसमें उसके घर विधायक बैठे नजर आए।
पीड़िता ने भास्कर को यह तस्वीर भी दी है। जिसमें उसके घर विधायक बैठे नजर आए।

मामले पर बोलने से बचते रहे जिम्मेदार
विधायक पर दुष्कर्म जैसे गंभीर आरोपों पर केस दर्ज होने के बाद भी अंबामाता थानाधिकारी दलपतसिंह राठौड़, डीएसपी महेन्द्र पारीक, सिटी एएसपी गोपाल स्वरुप मेवाड़ा और केस की जांच कर रही एएसपी अंजना सुखवाल से बात करने की लगातार कोशिश की गई, मगर सभी जिम्मेदार हाई प्रोफाइल मामले पर कुछ भी बोलने से बचते रहे।

रात करीब 11:30 बजे पुलिसकर्मी पीड़ित महिला को बयान पूरे होने के बाद उसे घर छोड़ आए। इससे पहले सुखवाल पीड़िता से करीब डेढ़ घंटे तक बात कर बयान दर्ज करवाए। वहीं, आरोपों पर गोगुंदा विधायक प्रतापलाल गमेती का कहना है कि मैं ऐसी किसी महिला को नहीं जानता हूं। सारे आरोप झूठे और बेबुनियाद हैं। इसके बाद उन्होंने फोन स्वीच ऑफ कर दिया।

गोगुंदा से भाजपा विधायक प्रताप गमेती।
गोगुंदा से भाजपा विधायक प्रताप गमेती।

प्रेम विवाह कर पीड़िता आई थी उदयपुर
पुलिस के अनुसार महिला मुंबई की रहने वाली है। करीब 20 साल पूर्व उसने प्रेम विवाह किया था। उदयपुर में भुवाणा का रहने वाला एक युवक मुंबई में ठेकेदारी करता था। एक ही बिल्डिंग में ही रहने के दौरान युवक उससे प्रेम विवाह कर उदयपुर लेकर आया। करीब 8 वर्षों तक साथ रहने के बाद पति ने उसे छोड़ दिया। पीड़िता के 2 बेटे हैं, जिनकी उम्र 20 साल और 10 साल है। वह अपने बेटों के साथ किराए के घर में रहती है।

पीड़िता का कहना है कि विधायक ने वल्लभनगर चुनाव के बाद फोन उठाना बंद कर दिया। कई बार विधायक के घर के चक्कर काटने के बाद भी जब विधायक ने उससे बात नहीं की तो वह थाने पर पहुंची। महिला विधायक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई चाहती है।

विधायक पर पहले भी लगा दुष्कर्म का आरोप
52 वर्षीय गोगुंदा विधायक प्रतापलाल गमेती पर 9 महीने पहले भी एमपी की एक भाजपा नेता ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। महिला का आरोप था कि विधायक ने उसकी पत्नी से नहीं बनने की बात कहकर करीब तीन सालों तक उसे शादी का झांसा दिया और शारीरिक संबंध बनाए।

इस मामले में भी सीबी सीआईडी ने जांच की थी। हालांकि बाद में यह मामला आपसी समझौते के बाद निपट गया था। शादीशुदा विधायक अपने पैतृक गांव दादिया में दो बार सरपंच रह चुके हैं। उनके घर में पत्नी, 4 बेटियां और 1 बेटा है, जिनमें तीन बेटियों की शादी हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...