• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Bhilwara Coronavirus News; Rajasthan Bhilwara Coronavirus Patient Son and His Granddaughter Novel Corona 19 Positive; Coronavirus Disease (COVID 2019) situation Reports From Bhilwara

भीलवाड़ा बन कोरोनाजोन / 60 साल के व्यक्ति की मौत के बाद उनकी पत्नी और बेटा भी पॉजिटिव, 6445 संदिग्ध रहेंगे पुलिस के पहरे में

मृतक का पूरी सुरक्षा में किया गया अंतिम संस्कार। मृतक का पूरी सुरक्षा में किया गया अंतिम संस्कार।
भीलवाड़ा के एमजी हाॅस्पिटल के आइसाेलेशन वार्ड में पाॅजिटिव मरीजाें का इलाज कर रहे नर्सिंगकर्मियाें ने गुरुवार काे वार्ड में इतनी शक्ति हमें देना दाता, मन का विश्वास कमजाेर हाे ना....गाकर भगवान से प्रार्थना की।
X
मृतक का पूरी सुरक्षा में किया गया अंतिम संस्कार।मृतक का पूरी सुरक्षा में किया गया अंतिम संस्कार।

  • 7000 लोग निजी अस्पताल के एक संक्रमित डॉक्टर के संपर्क में आए 
  • 11000 लोग संदिग्ध हैं, जिनमें से 6445 को होम आइसोलेशन में रखा जा रहा

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 02:26 PM IST

भीलवाड़ा. राजस्थान में चार शहर ऐसे हो गए हैं, जिनमें कोरोना का कम्यूनिटी इंफेक्शन का खतरा बढ़ गया है। भीलवाड़ा में कम्यूनिटी इंफेक्शन का सबसे बड़ा खतरा है।  वहां स्थिति फेज तीन में पहुंच चुकी है। अन्य शहर जयपुर, जोधपुर और झुंझुनूं हैं। भीलवाड़ा में गुरुवार को दो की मौत हो चुकी है। इसमें गुरुवार रात दम तोड़ने वाले 60 साल के पोजिटिव सुवा लाल जाट की पत्नी व पुत्र की रिपोर्ट शुक्रवार सुबह पोजिटिव मिली। जिसके बाद भीलवाड़ा मे पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढकर 21 हो गई है।

इससे पहले दिन में 73 साल के बुजुर्ग की मौत हो गई थी। शाम तक खबर आई कि उनके बेटे और पोती भी पॉजिटिव हैं। इससे दहशत और बढ़ गई। भीलवाड़ा की सीमाएं सील हैं, इसके बावजूद कोरोना के खौफ के कारण बड़ी संख्या में भागकर दूसरे जिलों में जा चुके हैं, उनसे भी कम्यूनिटी इंफेक्शन का खतरा है। अब तक प्रदेश में कुल 45 कोरोना पॉजिटिव पाए गए, जिनमें से अकेले भीलवाड़ा में ही 21 हैं। इतना ही नहीं भीलवाड़ा देश का पहला एपिक सेंटर है, जिसमें 457 सैंपल में से 21 पॉजिटिव पाए गए। यह औसत में सर्वाधिक है। 

सिटी के 77 हजार घरों का तीसरी बार सर्वे करना पड़ रहा, 133 विदेश से आए लोग हाई रिस्क पर
भीलवाड़ा में 11 हजार लोग संदिग्ध हैं, जिनमें से 6445 को होम आइसोलेशन में रखा गया है। उन पर अब पहरा बिठाया जाएगा। इस पूरे जिले के कम्यूनिटी इंफेक्शन की जड़ भीलवाड़ा का बांगड़ अस्पताल है। इसके डाॅक्टर मित्तल को पता चल गया था कि कोरोना इंफेक्शन फैल रहा है, फिर भी ओपीडी संक्रमित होने के बावजूद 7 हजार लोगों को डाक्टरों के संपर्क में आने दिया गया। यह कुल 86 बेड का अस्पताल है और उससे ज्यादा मरीज भर्ती करते रहे। इस कारण इंफेक्शन एक से दूसरे में फैलता गया। हालात ऐसे बन गए कि सिटी के 77 हजार घरों का तीसरी बार सर्वे करना पड़ रहा है। 650 को आइसोलेशन में लेकर सैंपलिंग की जा रही। 149 मरीज हाई रिस्क पर है। 133 विदेश से आए।

निजी अस्पताल का डॉक्टर है कम्यूनिटी संक्रमण का जिम्मेदार: स्वास्थ्य मंत्री
 भीलवाड़ा में सब गड़बड़ी एक निजी अस्पताल की है। उसी से संक्रमण फैला। हम भीलवाड़ा के 18.5 लाख लोगों का सर्वे करवा चुक हैं। 11 हजार संदिग्ध हैं। जिले से बाहर भागे लोगों को भी ट्रेस करवा रहे हैं। भीलवाड़ा के सीएमएचओ और टीम बहुत मेहनत कर रहे हैं। 332 दल लगा रखे हैं। वहां ही सबसे अधिक कम्यूनिटी स्प्रेड का खतरा है। - रघु शर्मा, स्वास्थ्य मंत्री

पॉजीटिव राेगी की कॉलोनी में दाेनाें समय छिड़केंगे सोडियम हाईपोक्लोराइड
नगर परिषद की ओर से सोडियम हाईपोक्लोराइड का छिड़काव जारी है। बुधवार काे भी चार वार्डों में छिड़काव किया लेकिन अचानक बारिश के कारण बह गया। इसके चलते गुरुवार को फिर से बाकी बचे वार्डों में स्प्रे करवाकर सेनिटाइज कराया गया। इसके साथ कोरोना पॉजीटिव की मौत होने को लेकर एमजी अस्पताल, उसके मकान और आसपास क्षेत्र को फिर से सेनिटाइज करने के लिए छिड़काव किया। सभापति मंजू चेचाणी ने बताया कि शहर में जहां भी कोरोना पॉजीटिव मिले हैं उन कॉलोनियों में सुबह-शाम स्प्रे किया जाएगा। स्वास्थ्य अधिकारी अखेराम बड़ोदिया ने बताया कि सोडियम हाईपोक्लोराइड की सप्लाई बाहर से नहीं हो पा रही है लेकिन शहर की एक फैक्ट्री ने बड़ा स्टॉक उपलब्ध कराया है। आगामी दिनों में स्प्रे लगातार जारी रहेगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना