पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सियासी महाभारत का मेवाड़ में असर:‘बंटी बन्ना’ के स्टैंड से वल्लभनगर की सियासत में आया उबाल, अब अगले कदम का इंतजार

उदयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गजेंद्र सिंह शक्तावत उर्फ ‘बंटी बन्ना’ सचिन पायलट के साथ। - Dainik Bhaskar
गजेंद्र सिंह शक्तावत उर्फ ‘बंटी बन्ना’ सचिन पायलट के साथ।
  • समर्थक इस्तीफे देंगे, जनता सेना बाेली-जनता के साथ कुठाराघात, भाजपा ने कहा-स्वागत है

प्रदेश की सियासत में आए भूचाल से हॉट शीट वल्लभनगर विधानसभा की राजनीति में अचानक उबाल आ गया है। दरसअल मेवाड़ से एकमात्र विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावत उर्फ ‘बंटी बन्ना’ सचिन पायलट के साथ हैं। सचिन पायलट और शक्तावत का अगला कदम जाे भी हाेगा उससे निश्चित रूप से मेवाड़ की वल्लभनगर सीट हर हाल में प्रभावित रहेगी।

हालांकि शक्तावत फिलहाल वल्लभनगर से कांग्रेस विधायक हैं, ऐसे में उनके पार्टी छाेड़ने या पार्टी से निकालने की स्थिति में ही साफ हो सकेगा कि वल्लभनगर की राजनीति किस करवट बैठेगी। शक्तावत के मंगलवार काे साेशल मीडिया पर पाेस्ट डालकर कांग्रेस के प्रदेश महासचिव पद से इस्तीफा देने की बात भी चली है। हालांकि शक्तावत का माेबाइल फाेन स्विच ऑफ हाेने से उनसे संपर्क नहीं हाे पाया है।

इधर, गजेंद्र सिंह शक्तावत के विधानसभा क्षेत्र वल्लभनगर ही नहीं बल्कि उदयपुर जिले की राजनीति में भी गहलाेत-पायलट की सियासी जंग और आगामी स्टैंड काे लेकर चर्चाएं गरम हैं। शक्तावत के स्टैंड काे लेकर वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस पदाधिकारियों में असमंजस की स्थिति सामने आ रही है। वहीं भाजपा और जनता सेना इस पूरे प्रकरण काे अपने-अपने नजरिए से देख रही हैं। 

पायलट से नजदीकियाें पर सीएम गहलाेत नहीं दे रहे थे तवज्जाे

गजेंद्र सिंह के करीबियाें का मानना है कि सीएम गहलोत पायलट से नजदीकियाें के कारण उनकी अनदेखी कर रहे थे। क्षेत्र की लंबित विकास योजनाओं काे लेकर वे 6 बार सीएम से मिल चुके थे लेकिन सुनवाई नहीं हुई। जिले से वल्लभनगर सहित कांग्रेस मात्र दाे सीटें जीत पाई थीं, इसके बाद भी शक्तावत काे काेई बड़ी जिम्मेदारी नहीं दी गई। वे दूसरी बार विधायक बने हैं। संसदीय सचिव भी रहे हैं।

बंटी बन्ना’ के लिए चुनावी रैली में आए थे पायलट

विधानसभा चुनाव में शक्तावत के समर्थन में पायलट भींडर आए थे। इस रैली में शक्तावत को उनके उपनाम ‘बंटी बन्ना’ से संबोधित किया था। पायलट ने भींडर में काॅलेज खोलने समेत कई बड़ी घोषणाएं की थीं। पायलट के ट्वीटर हैंडल की प्राेफाइल में भी उनके साथ शक्तावत की फाेटाे लगा है।

ये कांग्रेस पदाधिकारी बाेले-हम शक्तावत के साथ

वल्लभनगर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सुनील कुकड़ा और युवा कांग्रेस अध्यक्ष कुंदन सिंह कच्छेर का कहना है कि शक्तावत के साथ अन्याय हुआ तो इस्तीफा देंगे। नगर कांग्रेस कमेटी भींडर के अध्यक्ष पूरण व्यास का कहना है कि हम शक्तावत के साथ हैं। 

कांग्रेस : अभी वे विधायक हैं

शक्तावत अभी कांग्रेस के विधायक हैं। न ताे उन्हाेंने पार्टी छाेड़ी है न उनकाे निकाला गया है। एेसे में वल्लभनगर की राजनीति काे लेकर अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी हाेगी।
- लालसिंह झाला, देहात जिलाध्यक्ष

भाजपा : पार्टी में आएं तो स्वागत

वल्लभनगर मेंं भाजपा वैसे भी मजबूत है, शक्तावत भाजपा में आते हैं ताे स्वागत है। आगे की स्थिति क्या हाेगी यह ताे पार्टी आलाकमान पर निर्भर करता है।

- उदयलाल डांगी, वल्लभनगर से भाजपा के विधायक प्रत्याशी रहे

जनता सेना : शक्तावत किसी पार्टी में जाएं फर्क नहीं पड़ता

शक्तावत किसी भी पार्टी में जाएं, हमें फर्क नहीं पड़ता है। जिस पार्टी पर जनता ने भरोसा कर व कार्यकर्ताओं ने मेहनत कर जिताया है, उनके साथ कुठाराघात किया है। कांग्रेस में बिखराव तय है, कुछ कार्यकर्ताओं ने तो हमसे सम्पर्क करना भी शुरू कर दिया है।

- रणधीर सिंह भींडर, जनता सेना संरक्षक और पूर्व विधायक वल्लभनगर

यशोधरा : हम सरकार के साथ
हम पार्टी के साथ हैं। जिस सिंबल पर जनता ने जिताया है उसी के साथ गद्दारी करते हैं तो विश्वासघात होगा। 
- यशोधरा चावड़ा, पूर्व प्रधान, भींडर

देवेंद्र: हमारी निष्ठा पार्टी के साथ 
हमारी निष्ठा कांग्रेस पार्टी के साथ है। पार्टी के आदेश के साथ खड़े हैं।
- देवेन्द्र सिंह शक्तावत, गजेंद्र सिंह के भाई और भींडर के पूर्व पालिकाध्यक्ष

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें